Saturday , 25 November 2017

पद्मावती- ईमानदारी से इतिहास को दिखाने से डरती फ़िल्म

  आज जिन आलीशान महलों पर राजपूत गर्व करते नही थकते कभी सोचा है इन आलीशान किलो, महलों, बावड़ियों को मजदूरों मतलब ...

सर छोटूराम: कैसे बने राम रिछपाल से रहबर ए आजम

रहबर ए आजम, दीनबंधु, सर, चौधरी छोटूराम शारीरिक रूप से छोटे से कद के इस व्यक्ति के व्यक्तित्व का कद बहुत बड़ा था। वे ...

मार्गशीर्ष माह – महीना सै यू मंगसर का इसमैं कोए त्योहार नी ढंगसर का

कात्तक जा लिया दिवाळी मना ली, कात्तक नहा भी लिये होंगे इब म्हीनां आग्या है मंगसर का इसका हिंदी मैं जो संस्कृतनिष्ठ ...

आह्वान

मेरे देश के नौजवानों सच्चाई को समझो दुश्मन को पहचानो शांति सेना का नहीं जनसेना का निर्माण करो।। सन्दीप कुमार अपनी क ...

रूमान और इंकलाब के बेजोड़ शायर थे फैज

  मुझसे पहली सी मोहब्बत मेरे महबूब न मांग                और भी दुख हैं जमाने में मोहब्बत के सिवा फ़ैज़ अहमद फ़ ...

अभिव्यक्ति पर खतरे और प्रेस दिवस  

राष्ट्रीय प्रेस दिवस। यानि मीडिया को अपनी जिम्मेदारी और निष्पक्षता की याद दिलाने वाला दिन। यूं तो मीडिया का अर्थ मी ...

Next Prev
पद्मावती- ईमानदारी से इतिहास को दिखाने से डरती फ़िल्म

  आज जिन आलीशान महलों पर राजपूत गर्व करते नही थकते कभी सोचा है इन आलीशान किलो, महलों, बावड़ियों को मजदूरों मतलब दलितो ने ही बनाया है कित ...

Read More »
मार्गशीर्ष माह – महीना सै यू मंगसर का इसमैं कोए त्योहार नी ढंगसर का

कात्तक जा लिया दिवाळी मना ली, कात्तक नहा भी लिये होंगे इब म्हीनां आग्या है मंगसर का इसका हिंदी मैं जो संस्कृतनिष्ठ नाम है वो तो बड़ा अजीब है ...

Read More »
आह्वान

मेरे देश के नौजवानों सच्चाई को समझो दुश्मन को पहचानो शांति सेना का नहीं जनसेना का निर्माण करो।। सन्दीप कुमार अपनी कविता के माध्यम से आवाज उठ ...

Read More »
रूमान और इंकलाब के बेजोड़ शायर थे फैज

  मुझसे पहली सी मोहब्बत मेरे महबूब न मांग                और भी दुख हैं जमाने में मोहब्बत के सिवा फ़ैज़ अहमद फ़ैज़। शायरी की दुनियां का ...

Read More »
आह्वान

मेरे देश के नौजवानों सच्चाई को समझो दुश्मन को पहचानो शांति सेना का नहीं जनसेना का निर्माण करो।। सन्दीप कुमार अपनी कविता के माध्यम से आवाज उठ ...

Read More »
सर छोटूराम: कैसे बने राम रिछपाल से रहबर ए आजम

रहबर ए आजम, दीनबंधु, सर, चौधरी छोटूराम शारीरिक रूप से छोटे से कद के इस व्यक्ति के व्यक्तित्व का कद बहुत बड़ा था। वे दीन दुखियों गरीबों के बं ...

Read More »
scroll to top