Thursday , 19 October 2017

अटल बिहारी वाजपेयी – 13 दिन 13 महीने 13 तारीख

जीवन की ढ़लने लगी सांझ उमर घट गई डगर कट गई जीवन की ढ़लने लगी सांझ देश के प्रधानमंत्री रह चुके माननीय अटल बिहारी वाज ...

उच्चतम न्यायालय, दीवाली-पटाखे, परंपरा और चेतन

क्या है परंपरा ? हमारे देश में परंपरा के नाम पर बहुत सारी विसंगतियां रही हैं । दलितों के साथ होने वाला अन्याय-अत्या ...

राममनोहर लोहिया – गांधी और मार्क्स के बीच की कड़ी

अयं निजः परोवेति गणना लघुचेतसाम। उदारचरितानां तु वसुधैव कुटुम्बकम्।। संस्कृत के इस श्लोक में वर्णित ‘वसुधैव कुटुम्ब ...

बिग बॉस सीज़न 11 – सपना जीतगी रै ए

सपना चौधरी वैसे तो हमेशा ही छाई रहती हैं। यू ट्यूब पर हरियाणवी लिखकर कुछ भी सर्च करो सपना जरूर आगे मिलेगी। पर पिछले ...

क्या वाल्मीकि, कबीर व रैदास के साथ खड़े हो सकते हैं ?

आज वाल्मीकि जयंती है। पूरे देश मे सरकार इसे धूमधाम से मना रही है। जगह-जगह सरकार कार्यक्रम कर रही है। पिछले 2-3 दिनो ...

क्या किसी इंसान के मरने पर ख़ुशी मनानी चाहिए?

आप प्रत्येक साल रावण का पुतला दहन करके "अधर्म पर धर्म की जीत" का नारा देकर खुशियों में डूब जाते हो। आपके प्रिंट मीड ...

Next Prev
अटल बिहारी वाजपेयी – 13 दिन 13 महीने 13 तारीख

जीवन की ढ़लने लगी सांझ उमर घट गई डगर कट गई जीवन की ढ़लने लगी सांझ देश के प्रधानमंत्री रह चुके माननीय अटल बिहारी वाजपेयी जी की ये पंक्तियां भ ...

Read More »
उच्चतम न्यायालय, दीवाली-पटाखे, परंपरा और चेतन

क्या है परंपरा ? हमारे देश में परंपरा के नाम पर बहुत सारी विसंगतियां रही हैं । दलितों के साथ होने वाला अन्याय-अत्याचार परंपरा का ही हिस्सा थ ...

Read More »
बिग बॉस सीज़न 11 – सपना जीतगी रै ए

सपना चौधरी वैसे तो हमेशा ही छाई रहती हैं। यू ट्यूब पर हरियाणवी लिखकर कुछ भी सर्च करो सपना जरूर आगे मिलेगी। पर पिछले दिनों जब सपना के बिग बॉ़ ...

Read More »
क्या किसी इंसान के मरने पर ख़ुशी मनानी चाहिए?

आप प्रत्येक साल रावण का पुतला दहन करके "अधर्म पर धर्म की जीत" का नारा देकर खुशियों में डूब जाते हो। आपके प्रिंट मीडिया से लेकर सोशल मिडिया त ...

Read More »
बिग बॉस सीज़न 11 – सपना जीतगी रै ए

सपना चौधरी वैसे तो हमेशा ही छाई रहती हैं। यू ट्यूब पर हरियाणवी लिखकर कुछ भी सर्च करो सपना जरूर आगे मिलेगी। पर पिछले दिनों जब सपना के बिग बॉ़ ...

Read More »
राममनोहर लोहिया – गांधी और मार्क्स के बीच की कड़ी

अयं निजः परोवेति गणना लघुचेतसाम। उदारचरितानां तु वसुधैव कुटुम्बकम्।। संस्कृत के इस श्लोक में वर्णित ‘वसुधैव कुटुम्बकम्’ की कसौटी पर खरा उतरत ...

Read More »
scroll to top