Saturday , 18 November 2017

Home » खबर खास » जन्म मृत्यु प्रमाण पत्र बनवाना लोगों के लिए बना मुसीबत

जन्म मृत्यु प्रमाण पत्र बनवाना लोगों के लिए बना मुसीबत

लोगों ने की खिड़कियों की संख्या बढ़ाने की मांग की

May 14, 2016 1:26 pm by: Category: खबर खास Leave a comment A+ / A-

14 pun 03

 

जन्म और मृत्यु का पंजीकरण वर्तमान में हर व्यक्ति के लिये बहुत जरुरी है। सरकार भी हर चीज को डिजटल करने और प्रमाण पत्रों की प्रक्रिया को सरल करने का दम भरती है। लेकिन कैथल में इसकी तस्वीर कुछ और दिखाई देती है। यहां लोग सुबह आकर लाइन में लगते हैं और शाम को बिना प्रमाण पत्र प्राप्त किये खाली हाथ लौट जाते हैं। जिस भी व्यक्ति का इस जद्दोजहद में प्रमाण पत्र बनता है वह अपने आपको भाग्यशाली समझता है और उसकी खुशी किसी जंग जीतकर लौटे सैनिक से कम नहीं होती।

बात कैथल के पुराने अस्पताल की हो रही है जिसमें जन्म मृत्यु के प्रमाण पत्र बनावाना लोगों के लिये मुसीबत बन गया है। लोगों का आरोप यह भी है कि कर्मचारी प्रमाण पत्र बनवाने के बदले मनमानी फीस की वसूली करते हैं। प्रमाण पत्र बनवाने के लिये आये हुए एक शख्स का कहना है कि 50 किलोमीटर दूर से आए हैं लेकिन काम नहीं बना। इनका कहना है कि खिड़की केवल 2 घंटे खुलती है जिसमें मौजदू सभी लोगों का नंबर नहीं आ पाता और कुछ को खाली हाथ लौटना पड़ता है।

ऐसा नहीं है कि लोगों ने अपनी गुहार आला अधिकारियों तक न लगायी हो लेकिन उसके बावजूद भी फाइल एक मेज से दूसरी मेज तक नहीं पहुंच पाती। नाराज लोगों ने प्रशासन से कर्मचारियों की संख्या बढाने, पूरा सप्ताह कार्यालय खुला रखने एवं फार्म व प्रमाण पत्र लेने के लिये अलग-अलग खिड़कियां खोलने की मांग की है।

वहीं विभाग के नजरिये से देखा जाये तो अधिकारी इस देरी का कारण कर्मचारियों का पर्याप्त संख्या में न होना बतलाते हैं। कर्मचारियों के अपने दुख हैं। नाम न लिखने की शर्त पर बताते हैं कि एक कर्मचारी से चार-चार कर्मचारियों का काम लिया जा रहा है ऐसे में कैसे लोगों का काम समय पर पूरा हो सकता है। उच्चाधिकारियों एवं विभाग को कई बार लिखित में इस बारे अवगत कराया जा चुका है लेकिन कोई समाधान नजर नहीं आता। इस सबके बावजूद भी हर रोज लगभग 400 जन्म मृत्यु प्रमाण पत्र तैयार किये जाते हैं। सीवन, सदर और गुहला थाने की रिपोर्ट तैयार करने के लिये कोई कर्मचारी नहीं है सीएमओ तक इसकी शिकायत की जा चुकी है लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही।

इस बारे में सीएमओ वीके थापर से बात की गई तो उन्हें लोगों की तकलीफ का पता ही नहीं है ना ही स्टाफ की कमी का वे कहते हैं अगर जन्म प्रमाण पत्र देने वाले स्थान पर स्टाफ की कमी है और लोगों को परेशानी हो रही तो इसके लिए वे हर सम्भव प्रयास करेंगे और अगर सुविधा के लिये खिड़की बढ़ाने की जरूरत हुई तो इसके लिए काम करेंगे। लोगों को परेशान नहीं होने दिया जायेगा।

जन्म मृत्यु प्रमाण पत्र बनवाना लोगों के लिए बना मुसीबत Reviewed by on .   जन्म और मृत्यु का पंजीकरण वर्तमान में हर व्यक्ति के लिये बहुत जरुरी है। सरकार भी हर चीज को डिजटल करने और प्रमाण पत्रों की प्रक्रिया को सरल करने का दम भरत   जन्म और मृत्यु का पंजीकरण वर्तमान में हर व्यक्ति के लिये बहुत जरुरी है। सरकार भी हर चीज को डिजटल करने और प्रमाण पत्रों की प्रक्रिया को सरल करने का दम भरत Rating: 0

About Krishan Prajapati

Leave a Comment

scroll to top