Wednesday , 17 January 2018

About haryanakhas

जिसके साथ बलात्कार हुआ

जिसके साथ बलात्कार हुआ

जिसके साथ बलात्कार हुआ   – संदीप कुमार   जिसके साथ बलात्कार हुआ जिसको मानवता की हदें पार कर क्रूरता से मारा गया वह मेरी ही बेटी थी वह नहीं जानती थी किसी पर अविश्वास करना वह सबके साथ खेलती थी ...

Read More »
रेड सेल्यूट ! कॉमरेड अजीत सिंह ज्याणी

रेड सेल्यूट ! कॉमरेड अजीत सिंह ज्याणी

  आदमी की महानता बाजार और भीड़ ही तय करे ये जरूरी नहीं, बुद्धिमता या व्यक्तित्व तौर पर कुछ आदर्श हमारे आसपास भी हो सकते हैं। हमारे पास किसी की कितनी भी यादें हो, जिए हुए पल हो, कोई तस्वीर हो, साक् ...

Read More »
आसमान पर मक्खियां भिन भीना रही हैं

आसमान पर मक्खियां भिन भीना रही हैं

  आसमान पर मक्खियां भिन भीना रही हैं सूरज किसी निर्दोष के खून का धब्बा है पृथ्वी मेज पर नचा कर छोड़ा हुआ एक अंडा है जिसके गिरकर फूटते ही सारा आदर्श बह कर बेकार हो जाएगा जिसके होठों से अभी भी नहीं ...

Read More »
प्रो. जीएन साईबाबा का केंद्रीय जेल नागपुर से अपनी माँ को पत्र

प्रो. जीएन साईबाबा का केंद्रीय जेल नागपुर से अपनी माँ को पत्र

प्रो. जीएन साईबाबा का केंद्रीय जेल नागपुर से अपनी माँ को पत्र यह कविता प्रो. जीएन साईबाबा ने केंद्रीय जेल नागपुर में अपने अण्डा सेल से लिखी गई है। आशा है कि योग्य दोस्तों को इस महान व्यक्ति के बारे मे ...

Read More »
नवीन जिन्दल को खुला पत्र

नवीन जिन्दल को खुला पत्र

नवीन जिन्दल को खुला पत्र प्रिय जिन्दल साहब, उड़ीसा में अंगुल में ग्रामीणों पर आपके सुरक्षाकर्मियों द्वारा किये गये हमले के चित्र और वीडियो देख रहा था|  चित्र में एक डेढ़ साल के बच्चे का टूटा हुआ पैर, ...

Read More »
आठ तारीख महीना जनवरी का…..

आठ तारीख महीना जनवरी का…..

आठ तारीख महीना जनवरी का..... इसी दिन सन दो हज़ार नौ (2009) में छत्तीसगढ़ ज़िले में एक ऐसी घटना घटित हुई थी जो मेरे मन से कभी नहीं मिटेगी। ये तब की बात है जब मैं दंतेवाड़ा में ही काम करता था। सरकार चाहती थ ...

Read More »
अपराधी पेड़

अपराधी पेड़

अपराधी पेड़ हमारी जड़े पहचान ली गई हैं  वे सारी चीजें खोज ली गई हैं जो हमें बचाती थी तेज घूप में जलने से बरसात में बहने से ह्यूंन में बर्फ बनने से यह भी खोज लिया गया है नदी कैसे लेती हैं सांस  पंछ़ी कैस ...

Read More »
विलक्षण प्रतिभा के धनी थे भारतेंदु हरिश्चंद्र

विलक्षण प्रतिभा के धनी थे भारतेंदु हरिश्चंद्र

हिंदी साहित्य के इतिहास में आधुनिक काल का आरंभ जिस विलक्षण प्रतिभा के धनी साहित्यकार के ज़िक्र से शुरू होता है, वह सुप्रसिद्ध चर्चित नाम है- भारतेंदु हरिश्चंद्र। एक ऐसे साहित्यकार जिन्हें सिर्फ साहित्य ...

Read More »
सोशल साईट पर अनपढ़ों की जमात

सोशल साईट पर अनपढ़ों की जमात

सूचना-तकनीक का विकास वरदान भी है, और अभिशाप भी। पिछले कुछ सालों में मैं देख रहा हूं मेल-मिलाप, बातें, चिंतन, लेखन और पठन की ओर रूझान लगभग खत्म सा होता जा रहा है। तो वहीं फेसबुक, व्हाटअप, मैसेंजर इत्या ...

Read More »
गणतंत्र का मतलब – हिमांशु कुमार

गणतंत्र का मतलब – हिमांशु कुमार

पहले गणतंत्र से दो दिन पूर्व हिंदुस्तान टाइम्स में अनवर अहमद काकार्टून जिसमे नवजात गणतंत्र को डॉ .आम्बेडकर अपने गोद में लिए प्यार सेनिहार रहे हैं साथ में जवाहर लाल, राजेन्द्र प्रसाद और वल्लभ भाई पटेल ...

Read More »
scroll to top