Sunday , 19 August 2018

About haryanakhas

शीशम का पेड़

शीशम का पेड़

कवि इंद्रजीत की हरियाणवी बोली पर गजब की पकड़ है, हास्य और गंभीरता का जो मेल इंद्रजीत की कविताओं में मिलता है वह काबिले तारीफ है। एवन तहलका में कार्य के दौरान इंद्रजीत से परिचय हुआ था, उसी समय इनकी लेख ...

Read More »
इसा पाणी सै हरियाणे का

इसा पाणी सै हरियाणे का

इसा पाणी सै हरियाणे का म्हारे जैसा इतिहास खोज ल्यो और किते नहीं पाणे का। धरती जामै वीर गाभरू इसा पाणी सै हरयाणे का। कोई भी संकट आया हम जमा नहीं घबराये कदे। अपने हठ तै गोकुल नै औरंग के गोडे टिकवाए कदे। ...

Read More »
आजादी मेरा ब्रांड – अनुराधा बेनीवाल की बेहतरीन किताब

आजादी मेरा ब्रांड – अनुराधा बेनीवाल की बेहतरीन किताब

मैं घुम घुम देखूंगी सारा हरियाणा ये गीत तो आपने सुना ही होगा। इसमें महिला की सिर्फ हरियाणा भर को देखने की इच्छा है। आप सोच सकते हैं जिन महिलाओं को घर की चारदिवारी से बाहर सिर्फ गावं के कुएं, तालाब, नह ...

Read More »
‘पगड़ी द ऑनर’ – पूरे सिनेमा हॉल में मात्र दो दर्शक

‘पगड़ी द ऑनर’ – पूरे सिनेमा हॉल में मात्र दो दर्शक

अपनी रीलिज से पहले पगड़ी कई राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त कर चुकी है। फिल्म से जुड़े निर्माता निर्देशक से लेकर कलाकारों तक फिल्म को मिले पुरस्कारों से काफी उत्साहित थे। फिल्म के दो प्री ...

Read More »
पेशेवर मुक्केबाजी में भारत की प्रतिभा है विजेंद्र – आमिर खान

पेशेवर मुक्केबाजी में भारत की प्रतिभा है विजेंद्र – आमिर खान

भारतीय मुक्केबाज विजेंद्र ओलंपिक के बाद अब पेशेवर मुक्केबाजी में भी देश का नाम रोशन कर रहे हैं। अभी तक हुए मुकाबलों को विजेंद्र ने जीता है। उनकी लगातार जीत से उत्साहित और आश्चर्यचकित ब्रिटिश पेशेवर मु ...

Read More »
हजकां कांग्रेस विलय – कुलदीप बिश्नोई कांग्रेस को सौंपेंगें हरियाणा जनहित

हजकां कांग्रेस विलय – कुलदीप बिश्नोई कांग्रेस को सौंपेंगें हरियाणा जनहित

सुबह का भूला शाम को घर आ जाये तो उसे भूला नहीं कहते... जब जागो तभी सवेरा... लौट के बुद्धु घर को आये... और सबसे फेवरट ट्रेंड में चल रहा शब्द घर वापसी... हजकां सुप्रीमों कुलदीप बिश्नोई द्वारा अपनी पार्ट ...

Read More »
जलग्या हरियाणा

जलग्या हरियाणा

आरक्षण की आड़ मैं देखो, हरियाणा जलग्या भाई हक की खातिर लड़ने आळे, क्यूं बण बैठे दंगाई बड़ी मुश्किल तै हाड घसा कै, खड़ी करी थी मनै दुकान जींदगी मैं कदे देख्या ना था, एकदम आया इसा तूफान भीड़ बणा कै आये ...

Read More »
गुड़गांव – गुरुग्राम – नाम में क्या रखा है

गुड़गांव – गुरुग्राम – नाम में क्या रखा है

शेक्सपियर के कथन नाम में क्या रखा है का जवाब ढ़ूढने की जरुर कोशिश करनी चाहिये। नाम में बहुत कुछ रखा होता है। जैसे नाम में धर्म रखा होता है नाम में संस्कृति रखी होती है किसी किसी नाम में शोषण, अत्याचार ...

Read More »
scroll to top