Saturday , 21 October 2017

Home » खबर खास » बोलो भारत माता की जय

बोलो भारत माता की जय

July 18, 2017 12:55 am by: Category: खबर खास Leave a comment A+ / A-

सुबह-सुबह टीवी खोला तो आम खबरों की हैडलाइन में खबर थी कि मस्जिद के सामने अमरनाथ यात्रियों पर हुए हमले के विरोध में आतंकवाद का पुतला फूंक रहे एक संगठन के कार्यकर्ताओं द्वारा नमाज अता कर बाहर आ रहे यूपी के व्यापारी मोहम्मद हसन से मार-पिटाई का मामला देखने को मिला। सोचा किसी और राज्य में ऐसा हुआ होगा, लेकिन यह मामला तो हमारे हरियाणा के शहर हिसार का ही निकला। बड़ा अजीब सा एहसास हुआ। वैसे तो दूसरे राज्यों के शहरों की खबरें सुनने व देखने को मिलती रहती थीं। मेरठ का दृश्य भी याद है जब भारत माता की जय कहने के लिए पार्षद ही प्रदर्शन करते दिखे थे।

विवेक नगर स्थित मस्जिद के सामने हुए इस अफसोसनाक घटनाक्रम के बाद अल्पसंख्यक समाज के लोग पुलिस अधिकारी से मिले। अभी तक यह बात सामने आई है कि आतंकवाद का पुतला फूंकने के समय यूपी का व्यापारी मस्जिद से नमाज अता कर निकल रहा था उसने इसका विरोध किया। विवाद के दौरान किसी ने उसे थप्पड़ मार दिया। अल्पसंख्यकों के विरोध के बाद एक युवक को गिरफ्तार किया गया है। संगठन के मुखिया कपिल वत्स का कहना है कि यह युवक उनका कार्यकर्ता ही नहीं है। संगठन के जिला मंत्री रविंद्र गोयल कहते हैं कि मस्जिद के बाहर खड़े लोगों में से एक ने कहा था कि सात मर गए तो क्या हुआ? कश्मीरी भाइयों को भी भारतीय फौज मार रही है इनको भीड़ में से एक युवक ने भारत माता की जय बोलने को कहा तो उसने जवाब में अपशब्द बोल दिया। इस पर युवक ने थप्पड़ मार दिया। इस तरह आतंकवाद का पुतला वहीं फूंक दिया। दूसरी ओर अल्पसंख्यक समाज के नेता प्रफुल्ल खान भट्टी ने प्रशासन को चेतावनी दी है कि यदि पुलिस ने आरोपियों को बचाने का प्रयास किया तो इस मामले की शिकायत अल्पसंख्यक आयोग को की जाएगी। माकपा ने भी इस घटना की कड़ी निंदा की है।

 इस तरह ज्ञापन, धरना, प्रदर्शन, आरोप, प्रत्यारोप शुरू हो गए हैं। भारत माता की जय कहलवाने पर कई जगह पर विवाद सामने आ चुके हैं, जबकि शबाना आजमी ने अपने ढंग से कहा कि चलो, भारत माता न सही, अम्मा की जय बोल दो। अभी इंदौरी का कार्यक्रम कपिल शर्मा शो में आया था जिसमें उन्होंने कुछ इस तरह के भाव वाला शेर कहा था कि- इस देश की मिट्टी में हिंदू, मुसलमान क्रिश्चियन का खून मिला है, यह हिंदुस्तान तुम्हारे बाप का नहीं है। सचमुच यह भारत अपनी बहुरंगी संस्कृति, बहुविद्य, भाषाओं और विविध पहनावे के बावजूद एक है। गंगा, यमुना तहजीब का देश है। गंगा, यमुना के संगम का देश है। मेरा भी है, तेरा भी है, हम सब का देश है।

अमरनाथ यात्रियों पर हमला बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है हमारी आस्था पर हमला है, हमारी संस्कृति पर हमला है, उसके विरोध करने के और तरीके अपनाए जा सकते हैं। इस दुखदाई घटना के बीच यह क्यों भूल रहे हैं कि सलीम ड्राइवर ने ही तो बस यात्रियों की जान बचाई। उसने आतंकवादियों की गोलियों की बौछार के बीच दो किलोमीटर तक बस दौड़ाई और सुरक्षित कैंप पर पहुंचा कर ही दम लिया। क्या यह काफी नहीं है भारतीय होने का प्रमाण देने के लिए? क्या सलीम ने अपने कृत्य से देश की माटी को सलाम नहीं किया। बस इतना ही कि:-

हम लोगों से यह पंछी कितने अच्छे,

कभी मस्जिद पे जा बैठे कभी मंदिर पर।

लेखक परिचय

kamlesh-bhartiya

लेखक कमलेश भारतीय हरियाणा ग्रंथ अकादमी के पूर्व उपाध्यक्ष रहे हैं। इससे पहले खटकड़ कलां में शहीद भगतसिंह की स्मृति में खोले सीनियर सेकेंडरी स्कूल में ग्यारह साल तक हिंदी अध्यापन एवं कार्यकारी प्राचार्य।  फिर चंडीगढ से प्रकाशित दैनिक ट्रिब्यून समाचारपत्र में उपसंपादक,  इसके बाद हिसार में प्रिंसिपल रिपोर्टर ।उसके बाद नवगठित हरियाणा ग्रंथ अकादमी के उपाध्यक्ष बने। कथा समय मासिक पत्रिका का संपादन। मूल रूप से पंजाब के नवांशहर दोआबा से, लेकिन फिलहाल रिहाइश हिसार में। हिंदी में स्वतंत्र लेखन । दस संकलन प्रकाशित एवं एक संवाददाता की डायरी को प्रधानमंत्री पुरस्कार।

बोलो भारत माता की जय Reviewed by on . सुबह-सुबह टीवी खोला तो आम खबरों की हैडलाइन में खबर थी कि मस्जिद के सामने अमरनाथ यात्रियों पर हुए हमले के विरोध में आतंकवाद का पुतला फूंक रहे एक संगठन के कार्यकर सुबह-सुबह टीवी खोला तो आम खबरों की हैडलाइन में खबर थी कि मस्जिद के सामने अमरनाथ यात्रियों पर हुए हमले के विरोध में आतंकवाद का पुतला फूंक रहे एक संगठन के कार्यकर Rating: 0

Leave a Comment

scroll to top