Saturday , 21 October 2017

Home » खबर खास » बालू दलित हमला – एस पी से मिलने के बाद पुलिस ने दर्ज किया केस

बालू दलित हमला – एस पी से मिलने के बाद पुलिस ने दर्ज किया केस

May 3, 2017 11:15 am by: Category: खबर खास Leave a comment A+ / A-

90 से ज्यादा लोगों के खिलाफ एस सी/एस टी अधिनियम तथा 148/149 आईपीसी आदि धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज।

आज सुबह ही गांव बालू के 50 से ज्यादा दलित समाज के बुजुर्ग व नौजवान जिला मुख्यालय पर आए। 1 मई को हुई दलित उत्पीड़न की घटना में जिला पुलिस ने आज सुबह तक कोई गिरफ्तारी नहीं की थी। न ही कोई मुकदमा दर्ज किया था। जन संर्घष मंच के प्रधान फूल सिंह के नेतृत्व में दलित पुलिस अधीक्षक कैथल के कार्यालय के बाहर 12 बजे तक बैठे रहे वहां पर मौजूद पुलिस कर्मियों ने पहले तो यह बताया कि पुलिस अधीक्षक आने वाले हैं लेकिन बाद में बताया कि वह आज नहीं बैठेंगे।

इसलिए दलित समाज के लोगों ने डीएसपी सतीश गौतम से मिल कर अपनी समस्या बताई। डीएसपी ने बताया कि 90 से ज्यादा लोगों के खिलाफ एस सी/एस टी अधिनियम तथा 148/149 आईपीसी आदि धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। यह डीएसपी इस मुकदमें का जांच अधिकारी भी हैं। घायलों के ब्यान पुलिस ने लिख लिए है। घायल संजीव और संदीप के एक्स-रे आज सुबह ही हो पाए हैं। इनको लगी चोटों पर चिकित्सीय रिपोर्ट आनी अभी बाकि है।

पीड़ित पक्ष का कहना है कि गांव में अभी भी दहशत का माहौल है। कई दलित परिवार गांव छोड़कर सुरक्षित जगहों पर चले गए हैं। दलित समुदाय के रमेश, हरिकेश पुत्र महाली तथा रामपाल पुत्र धूला राम का परिवार कल हुए हमले से भयभीत होकर गांव छोड़कर चले गए हैं। कल हुए हमले में हुए नुक्सान की जानकारी भी दलित समाज के लोगों ने दी। एक युवक नरेश ने बताया कि हमलावरों ने कुर्सी, मेज, दरवाजे, खिड़कियां सब कुछ तहस नहस कर दिया। रमेश पुत्र महालि राम के चौबारे की खिड़की उखाड़ दी। बलराज के घर का लोहे का मेन गेट तोड़ दिया। 6-7 साईकिल भी तोड़ डाले। बालू गांव की इस बस्ती के ज्यादातर बाल्मीकि दलित साईकिलों पर पंजाब में फेरी लगा कर बाल खरीदते हैं। इस कार्य में साईकिल की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण होती है । पीड़ितों का आरोप है कि सोच समझ कर साईकिलों को निशाना बनाया गया।

गौरतलब है कि एक मई को कैथल के बालू में कुछ दलित परिवारों ने गांव के सरपंच पर समुदाय सहित हमला करने का आरोप लगाया था। जिस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई थी। पीड़ित पक्ष का कहना है कि सरपंच की शैक्षणिक योग्यता पर दलित युवकों द्वारा सवाल उठाने और आरटीआई व सीएम विंडो में शिकायत करने से नाराज सरपंच ने गुर्गों सहित दलित परिवारों पर हमला किया जिसमें कई लोगों को चोटें आयी हैं। हालांकि आरोपी पक्ष की ओर से भी दलित युवकों पर मारपीट का आरोप लगाया है जिसमें युवकों की पृष्ठभूमि भी आपराधिक बतायी जा रही है। पुलिस फिलहाल मामले की जांच कर रही है।

Uday Che की रिपोर्ट

(ख़बर में दी गई जानकारी और तथ्यों की पुष्टि हरियाणा खास नहीं करता है लेखक द्वारा भेजी गई रिपोर्ट को ज्यों का त्यों यहां प्रस्तुत किया जा रहा है।)

बालू दलित हमला – एस पी से मिलने के बाद पुलिस ने दर्ज किया केस Reviewed by on . 90 से ज्यादा लोगों के खिलाफ एस सी/एस टी अधिनियम तथा 148/149 आईपीसी आदि धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज। आज सुबह ही गांव बालू के 50 से ज्यादा दलित समाज के बुजुर्ग व नौ 90 से ज्यादा लोगों के खिलाफ एस सी/एस टी अधिनियम तथा 148/149 आईपीसी आदि धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज। आज सुबह ही गांव बालू के 50 से ज्यादा दलित समाज के बुजुर्ग व नौ Rating: 0

Leave a Comment

scroll to top