Friday , 24 November 2017

Category: खबर खास

Feed Subscription

खबर खास

  • पद्मावती- ईमानदारी से इतिहास को दिखाने से डरती फ़िल्म

    पद्मावती- ईमानदारी से इतिहास को दिखाने से डरती फ़िल्म

      आज जिन आलीशान महलों पर राजपूत गर्व करते नही थकते कभी सोचा है इन आलीशान किलो, महलों, बावड़ियों को मजदूरों मतलब दलितो ने ही बनाया है कितनी पीढियां खप गयी इन किलों, महलों को बना ...

  • मार्गशीर्ष माह – महीना सै यू मंगसर का इसमैं कोए त्योहार नी ढंगसर का

    मार्गशीर्ष माह – महीना सै यू मंगसर का इसमैं कोए त्योहार नी ढंगसर का

    कात्तक जा लिया दिवाळी मना ली, कात्तक नहा भी लिये होंगे इब म्हीनां आग्या है मंगसर का इसका हिंदी मैं जो संस्कृतनिष्ठ नाम है वो तो बड़ा अजीब है मार्गशीर्ष, अगहन मास भी कह दें हैं मार् ...

  • आह्वान

    आह्वान

    मेरे देश के नौजवानों सच्चाई को समझो दुश्मन को पहचानो शांति सेना का नहीं जनसेना का निर्माण करो।। सन्दीप कुमार अपनी कविता के माध्यम से आवाज उठा रहे है कि रोजाना हो रहे सैनिको और आदिव ...

  • रूमान और इंकलाब के बेजोड़ शायर थे फैज

    रूमान और इंकलाब के बेजोड़ शायर थे फैज

      मुझसे पहली सी मोहब्बत मेरे महबूब न मांग                और भी दुख हैं जमाने में मोहब्बत के सिवा फ़ैज़ अहमद फ़ैज़। शायरी की दुनियां का वो नाम जिनकी रचनाओं में इंक़लाबी और रूमा ...

चित्र से चरित्र लगता है विचित्र

चित्र से चरित्र लगता है विचित्र

हरियाणा में एक कहावत है कि (ज्यब उल्टे लैग रे हों तो ऊंट पै बैठे नै भी कुत्ता पाड़ ले) यानि जब समय विपरीत हो तो ऊंट पर बैठे व्यक्ति को भी कूत्ता काट सकता है अर्थात सुरक्षित समझे ज ...

Read More »
सुभाष चंद्रा को बधाई तो मिली लेकिन जीत?

सुभाष चंद्रा को बधाई तो मिली लेकिन जीत?

अब राज्यसभा को आप एक रंगमंच और चुनाव को नाटक कह सकते हैं अरे भई मजाक नहीं उड़ा रहा हूं पिछले कुछ दिनों से राज्यसभा चुनाव का नाटक ही तो चल रहा है। जोड़-तोड़ लगाकर अपनी जीत की बधाई ...

Read More »
निर्जला एकादशी – ये व्रत है बड़ा कठिन

निर्जला एकादशी – ये व्रत है बड़ा कठिन

ज्येष्ठ यानि जेठ का महीने की तपती दुपहरी में आपको कदम कदम पर मीठे पानी और शरबत की छबीलें लगी दिखाई दें, आपको प्रेम से कोई तरबूज खिलाए, सफर कर रहे हैं तो वाहनों को रोक-रोक कर यात्र ...

Read More »
आखिर पहुंचते कैसे हैं राज्यसभा में ?

आखिर पहुंचते कैसे हैं राज्यसभा में ?

-दीपकमल सहारण राज्यसभा चुनावों के लिए वोटों को Single Transferable Vote सिस्टम से गिना जाता है। 1851 में डेनमार्क में पहली बार इस्तेमाल हुए इस सिस्टम को वोटरों की पसंद जानने के लि ...

Read More »
युद्धों का निर्मम रणनीतिकार था अबु-बक्र-अल-बगदादीः एक विश्लेषण

युद्धों का निर्मम रणनीतिकार था अबु-बक्र-अल-बगदादीः एक विश्लेषण

बगदादी मारा गया। सिर्फ तीन शब्द। और घटना इतनी बड़ी कि हर जिज्ञासुओं के लिए महत्व रखने वाली खबर। हालांकि अब से पहले भी ऐसी खबरें मीडिया जगत का हिस्सा बनती रही है। मगर इस बार खबर का ...

Read More »
हे आम नारी – राज गली नहीं आसाँ पर जाईये ज़रूर

हे आम नारी – राज गली नहीं आसाँ पर जाईये ज़रूर

  लेखिका – सुनीता धारीवाल (कानाबाती ब्लॉग से साभार) स्थानीय निकाय के चुनाव अभी खत्म हुए हैं और पंजाब के विधानसभा चुनाव आने वाले हैं। चुनावी बाज़ार तेजी पर है सभी पत्र पत्रिकाए ...

Read More »
नेहरू भी देखते थे समाजवाद का ख्वाब

नेहरू भी देखते थे समाजवाद का ख्वाब

लेखक - एस.एस पंवार “हिन्दुस्तान एक ख़ूबसूरत औरत नहीं है। नंगे किसान हिन्दुस्तान हैं। वे न तो ख़ूबसूरत हैं, न देखने में अच्छे हैं- क्योंकि ग़रीबी अच्छी चीज़ नहीं है, वह बुरी चीज़ ह ...

Read More »
बुद्ध पूर्णिमा – आज भी सीख देते हैं बुद्ध

बुद्ध पूर्णिमा – आज भी सीख देते हैं बुद्ध

  वैसाख माह की पूर्णिमा को महात्मा बुद्ध के जन्मोत्सव के रुप में मनाया जाता है। बोद्ध धर्म के अनुयायियों के लिये इस दिन  का  महत्व बहुत अधिक है। माना जाता है कि महात्मा बुद्ध ...

Read More »
‘गेम इन गेम’ से सीखने की घड़ी….

‘गेम इन गेम’ से सीखने की घड़ी….

खेलों से हम स्वस्थ रहने की बात करते हैं, खेलों से हम संस्कृति, तहजीब की बात करते हैं, खेलों से हम आगे बढने की बात करते हैं। खेल हमारे इतिहास और संस्कृति का हिस्सा होते हैं। खेल मा ...

Read More »
आम जन के कवि रामफल जख्मी का निधन

आम जन के कवि रामफल जख्मी का निधन

हरियाणा की माटी में पले बढ़े बहुत सारे ऐसे कलाकार हैं जो देश दुनिया में प्रदेश का नाम रोशन कर रहे हैं। लेकिन कुछ ऐसे कलाकार भी हैं जिन्हें भले देश दुनिया ना जानती हो लेकिन जमीनी स ...

Read More »
scroll to top