Tuesday , 26 September 2017

Category: तीज तयोहार

Feed Subscription

तीज तयोहार

  • रक्षाबंधन – 7 अगस्त नै है सलोमण, हरियाणा मैं गाये जां हैं ये गीत

    रक्षाबंधन – 7 अगस्त नै है सलोमण, हरियाणा मैं गाये जां हैं ये गीत

    सामण की पणवासी नै मनाया जा है सलोमण का त्यौहार। सलोमण यानि रक्षाबंधन यानि राखी। इस त्यौहार के समय हरियाणा में कई जगहों पर मेलों का तो कई जगह खेलों का आयोजन किया जाता है। बहनों को त ...

  • हरियाली तीज – ल्यो तीज के रंग लोकगीतों के संग

    हरियाली तीज – ल्यो तीज के रंग लोकगीतों के संग

    नींबा कै निंबोळी लागी सामणियां कद आवैगा जिस सामण का इंतजार पूरे साल भर रहता है वह जाने को है लेकिन त्यौहारों का सिलसिला तो अभी शुरु हुआ है। जी हां त्यौहारों का आगाज़ सावन के इस पाव ...

  • बैसाख – किसानों के लिये खास है यह महीना

    बैसाख – किसानों के लिये खास है यह महीना

    बैसाख देसी साल के हिसाब तै तो साल का दूसरा महीना सै पर असल मैं किसान के चेहरे पै कुछ खुशी के सुनहरे रंग तो इसे महीनै मैं आ पावैं हैं। अंग्रेजी कैलेंडर के हिसाब तै 11 अप्रैल तै बैसा ...

  • होली एक महिला विरोधी पर्व?

    होली एक महिला विरोधी पर्व?

         क्या अजीब संयोग है कि अभी 8 मार्च को पूरी दुनिया में बड़े पैमाने पर महिलाओं के संघर्ष, सम्मान और बराबरी की लड़ाई को समर्थन और सम्मान देते हुए अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया। जगह ...

चौहान वंश की महिलाएं यहां नहीं मनाती करवा चौथ

चौहान वंश की महिलाएं यहां नहीं मनाती करवा चौथ

एक ओर जहाँ देश भर में महिलाएँ पतियों की लंबी उम्र के लिए करवाचौथ का उपवास रख रही हैं, अपने सुहाग के नाम की मेंहदी रचाकर सजने-सँवरने में लगी हैं। यमराज से पति के प्राण छीन लेने वाल ...

Read More »
रामायण के रचयिता ब्राह्मण या भील

रामायण के रचयिता ब्राह्मण या भील

महर्षि वाल्मीकि जी की जयंती के नजदीक आते ही तमाम नेता उन्हें याद करने लगते हैं... जयंती के दिन अखबारों में बड़े-बड़े विज्ञापन प्रकाशित किये जाते हैं। समारोह का आयोजन किया जाता है. ...

Read More »
रामायण का असली हीरो है रावण

रामायण का असली हीरो है रावण

दशहरा आते ही पूरे उत्तर भारत में राम से ज्यादा रावण का जिक्र होने लगता है। राम का नाम औपचारिकता के लिये भले ले लिया जाता हो लेकिन असल में गुणगान तो रावण का ही किया जाता है। बड़ी स ...

Read More »
फल्गुतीर्थ उत्सव के रंग में डूबा फरल

फल्गुतीर्थ उत्सव के रंग में डूबा फरल

तीज-त्योंहार हो, मेले हो, या फिर कोई उत्सव... हरियाणा की कला का रंग हर कला-प्रेमी की अपने में यूं समेट लेता है जैसे दूध में घुली मिशरी हो... जी हां, कुछ ऐसा ही मनमोहक और मिठास भरा ...

Read More »
श्राद्ध पक्ष – कौन हैं पितर? कैसे होती है पितरों की शांति?

श्राद्ध पक्ष – कौन हैं पितर? कैसे होती है पितरों की शांति?

पितर..... वैसे तो ये शब्द बहुत ही श्रद्धा का प्रतीक है और भाद्रपद पूर्णिमा से लेके आश्विन मास का पूरा कृष्ण पक्ष यानि आश्विन अमावस्या तक तो पूरा पक्ष ही पितृपक्ष के नाम से जाना जा ...

Read More »
बकरीद के भोजन पर सरकार की निगाह

बकरीद के भोजन पर सरकार की निगाह

कहा जाता है कि धर्म और राजनीति को अलग-अलग रखा जाना चाहिए। राजनीति करते वक्त धर्म की आड़ नहीं लेनी चाहिए और धर्म को मनाते वक्त भी राजनीति से अपेक्षा नहीं होती है कि बीच में कोई दखल ...

Read More »
गोगा नवमी – गूगा पीर की छड़ी दादी कूद कै पड़ी

गोगा नवमी – गूगा पीर की छड़ी दादी कूद कै पड़ी

गूगा पीर की छड़ी दादी कूद कै पड़ी ये रुके इन दिनां मैं बाळका कै मूंह तै एक टेम मैं खूब सुणाई दिया करते। गूगा की छड़ी लेएं गूगा पीर के भगत घर-घर गूगा नौमी तै पहले ए डेरू की ढूं ढूं ...

Read More »
शिवरात्रि – 1 तारीख नै चढ़ावैंगें कांवड़िये शिवजी पै जल

शिवरात्रि – 1 तारीख नै चढ़ावैंगें कांवड़िये शिवजी पै जल

  आज कल बम बम भोले, हर-हर महादेव का नारा हर और गूंज रहा है। पूरा वातावरण बाबा भोलेभंडारी के जयकारों, नारों से गूंजायमान है। सब कुछ शिवमय हो गया है। सड़कों पर अपने कंधों पर रं ...

Read More »
scroll to top