Wednesday , 17 January 2018

Category: साहित्य खास

Feed Subscription

साहित्य खास

  • रेड सेल्यूट ! कॉमरेड अजीत सिंह ज्याणी

    रेड सेल्यूट ! कॉमरेड अजीत सिंह ज्याणी

      आदमी की महानता बाजार और भीड़ ही तय करे ये जरूरी नहीं, बुद्धिमता या व्यक्तित्व तौर पर कुछ आदर्श हमारे आसपास भी हो सकते हैं। हमारे पास किसी की कितनी भी यादें हो, जिए हुए पल हो, ...

  • अपराधी पेड़

    अपराधी पेड़

    अपराधी पेड़ हमारी जड़े पहचान ली गई हैं  वे सारी चीजें खोज ली गई हैं जो हमें बचाती थी तेज घूप में जलने से बरसात में बहने से ह्यूंन में बर्फ बनने से यह भी खोज लिया गया है नदी कैसे लेती ...

  • विलक्षण प्रतिभा के धनी थे भारतेंदु हरिश्चंद्र

    विलक्षण प्रतिभा के धनी थे भारतेंदु हरिश्चंद्र

    हिंदी साहित्य के इतिहास में आधुनिक काल का आरंभ जिस विलक्षण प्रतिभा के धनी साहित्यकार के ज़िक्र से शुरू होता है, वह सुप्रसिद्ध चर्चित नाम है- भारतेंदु हरिश्चंद्र। एक ऐसे साहित्यकार ज ...

  • सोशल साईट पर अनपढ़ों की जमात

    सोशल साईट पर अनपढ़ों की जमात

    सूचना-तकनीक का विकास वरदान भी है, और अभिशाप भी। पिछले कुछ सालों में मैं देख रहा हूं मेल-मिलाप, बातें, चिंतन, लेखन और पठन की ओर रूझान लगभग खत्म सा होता जा रहा है। तो वहीं फेसबुक, व् ...

प्रेमी प्रेमिका संवाद

प्रेमी प्रेमिका संवाद

शहर के एक बड़े उद्यान में प्रेमी ने कहा प्रेमिका के कान में चलो प्रिये कहीं और चलते है जहाँ पर मोहोब्बतो के दौर चलते है यहाँ प्यार करना आसान नहीं है इस पार्क में कोई जगह सुनसान नह ...

Read More »
हरियाणवी कविता – थूल्ली

हरियाणवी कविता – थूल्ली

खेल्या हामनै डंडा सौलिया कदे बगाई लाल मैं गुल्ली लुकमी चाई, पकड़म पकड़ाई भाजे-रूकगे फेर खाई थुली.... शक्कर भीजी, नुणियां घण्टी फिटो, घूते, कदे गुलर बरबंटी बिजो, बरफी, राम के खाने कद ...

Read More »
शीशम का पेड़

शीशम का पेड़

कवि इंद्रजीत की हरियाणवी बोली पर गजब की पकड़ है, हास्य और गंभीरता का जो मेल इंद्रजीत की कविताओं में मिलता है वह काबिले तारीफ है। एवन तहलका में कार्य के दौरान इंद्रजीत से परिचय हुआ ...

Read More »
इसा पाणी सै हरियाणे का

इसा पाणी सै हरियाणे का

इसा पाणी सै हरियाणे का म्हारे जैसा इतिहास खोज ल्यो और किते नहीं पाणे का। धरती जामै वीर गाभरू इसा पाणी सै हरयाणे का। कोई भी संकट आया हम जमा नहीं घबराये कदे। अपने हठ तै गोकुल नै औरं ...

Read More »
आजादी मेरा ब्रांड – अनुराधा बेनीवाल की बेहतरीन किताब

आजादी मेरा ब्रांड – अनुराधा बेनीवाल की बेहतरीन किताब

मैं घुम घुम देखूंगी सारा हरियाणा ये गीत तो आपने सुना ही होगा। इसमें महिला की सिर्फ हरियाणा भर को देखने की इच्छा है। आप सोच सकते हैं जिन महिलाओं को घर की चारदिवारी से बाहर सिर्फ गा ...

Read More »
‘पगड़ी द ऑनर’ – पूरे सिनेमा हॉल में मात्र दो दर्शक

‘पगड़ी द ऑनर’ – पूरे सिनेमा हॉल में मात्र दो दर्शक

अपनी रीलिज से पहले पगड़ी कई राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त कर चुकी है। फिल्म से जुड़े निर्माता निर्देशक से लेकर कलाकारों तक फिल्म को मिले पुरस्कारों से काफी उत्साहित ...

Read More »
जलग्या हरियाणा

जलग्या हरियाणा

आरक्षण की आड़ मैं देखो, हरियाणा जलग्या भाई हक की खातिर लड़ने आळे, क्यूं बण बैठे दंगाई बड़ी मुश्किल तै हाड घसा कै, खड़ी करी थी मनै दुकान जींदगी मैं कदे देख्या ना था, एकदम आया इसा त ...

Read More »
scroll to top