Thursday , 18 January 2018

Category: साहित्य खास

Feed Subscription

साहित्य खास

  • रेड सेल्यूट ! कॉमरेड अजीत सिंह ज्याणी

    रेड सेल्यूट ! कॉमरेड अजीत सिंह ज्याणी

      आदमी की महानता बाजार और भीड़ ही तय करे ये जरूरी नहीं, बुद्धिमता या व्यक्तित्व तौर पर कुछ आदर्श हमारे आसपास भी हो सकते हैं। हमारे पास किसी की कितनी भी यादें हो, जिए हुए पल हो, ...

  • अपराधी पेड़

    अपराधी पेड़

    अपराधी पेड़ हमारी जड़े पहचान ली गई हैं  वे सारी चीजें खोज ली गई हैं जो हमें बचाती थी तेज घूप में जलने से बरसात में बहने से ह्यूंन में बर्फ बनने से यह भी खोज लिया गया है नदी कैसे लेती ...

  • विलक्षण प्रतिभा के धनी थे भारतेंदु हरिश्चंद्र

    विलक्षण प्रतिभा के धनी थे भारतेंदु हरिश्चंद्र

    हिंदी साहित्य के इतिहास में आधुनिक काल का आरंभ जिस विलक्षण प्रतिभा के धनी साहित्यकार के ज़िक्र से शुरू होता है, वह सुप्रसिद्ध चर्चित नाम है- भारतेंदु हरिश्चंद्र। एक ऐसे साहित्यकार ज ...

  • सोशल साईट पर अनपढ़ों की जमात

    सोशल साईट पर अनपढ़ों की जमात

    सूचना-तकनीक का विकास वरदान भी है, और अभिशाप भी। पिछले कुछ सालों में मैं देख रहा हूं मेल-मिलाप, बातें, चिंतन, लेखन और पठन की ओर रूझान लगभग खत्म सा होता जा रहा है। तो वहीं फेसबुक, व् ...

क्यों उड़ाया गया दोपदी का फेसबुक अकाउंट ?

क्यों उड़ाया गया दोपदी का फेसबुक अकाउंट ?

“कवि हूं, आदीवासी हूं, संघर्षों भरी अपनी कथा रही“ बस ! इतना सा परिचय... और इतना काफी भी था सियासत की रंगत फीकी करने करने के लिए। नाम दोपदी सिंघार। व्यवसाय- निजि स्कूल में अध्यापिक ...

Read More »
दोपदी सिंघार की कविताएं

दोपदी सिंघार की कविताएं

"कवि हूं, आदीवासी हूं, संघर्ष भरी अपनी कथा रही ।" बस ! इतना-सा परिचय और सोशल मीडिया पर समीक्षाओं-प्रशंसाओं की भरमार... आखिर क्या है ऐसा दोपदी सिंघर की रचनाओं में... आईए जानते हैं ...

Read More »
वरिष्ठ लोककवि, गायक पंडित जगन्नाथ समचाना से रोशन वर्मा की बातचीत

वरिष्ठ लोककवि, गायक पंडित जगन्नाथ समचाना से रोशन वर्मा की बातचीत

जिले रोहतक म्हं आ जाईये एक बसै गाम समचाणा हेरै के बुझैगी खटक लगी सुण्या जगन्नाथ का गाणा ______________________________________ हरियाणा प्रदेश के लोक संगीत एवं लोक साहित्य के संदर् ...

Read More »
पगड़ी की सफलता के बाद अब सतरंगी का इंतजार

पगड़ी की सफलता के बाद अब सतरंगी का इंतजार

हरियाणवी सिनेमा अब अंगड़ाई ले रहा है। लंबे अरसे बाद बॉलीवुड तो हरियाणा  की ओर आकर्षित हुआ ही है। हरियाणा की माटी से जुड़े निर्माता निर्देशकों में भी एक नई ऊर्जा देखने को मिल रही ह ...

Read More »
सपने म्हं नेता

सपने म्हं नेता

(हरियाणा में सपनों के दो बड़े कवि माने जाते हैं दोनों ही गुरु शिष्य हैं। फौजी (जाट) मेहर सिंह और कृष्णचंद। इनके सपनों में सौंदर्य का वर्णन हैं, ससुराल का वर्णन है, एक भरा पूरा ग्र ...

Read More »
लोक कवि कृष्ण चंद – 22 जुलाई को सिसाना में हुआ जन्म

लोक कवि कृष्ण चंद – 22 जुलाई को सिसाना में हुआ जन्म

कृष्ण चंद्र इनका जन्म 22 जुलाई 1922 को लोक कवियों की धरती सोनीपत जिले के सिसाना गांव में हुआ। बाजे भगत और पंडित मांगेराम जैसे लोक कवि भी इसी गांव में जन्में हैं। कविताई के मामले म ...

Read More »
लोक कवि मान सिहं खनौरी वाले

लोक कवि मान सिहं खनौरी वाले

कहते हैं असली लोकजीवन की झलक लोककविताओं में मिलती है लेकिन हरियाणा की लोक कविता पर गाहे बगाहे इसके आरोप भी लगे हैं कि उसने पौराणिक आख्यानों के जरिये ही लोक को परिभाषित और मार्गदर् ...

Read More »
मा. सतबीर – गायकी में भी मास्टरी थी मास्टर जी की

मा. सतबीर – गायकी में भी मास्टरी थी मास्टर जी की

आज की पीढ़ी को पंडित लख्मीचंद को देखना नसीब नहीं हुआ क्योंकि वह बहुत पहले अपना सबकुछ आने वाली पीढियों को समर्पित करके जा चुके हैं लेकिन पुरानी के साथ आज की पीढ़ी पंडित लख्मीचंद, म ...

Read More »
मास्टर सतबीर – लोक संस्कृति के एक युग का अंत

मास्टर सतबीर – लोक संस्कृति के एक युग का अंत

लोक गायक मास्टर सतबीर पंडित लख्मीचंद, बाजे भगत, धनपत, पंडित मांगेराम की पंरपरा को संभालने वाले एक मजबूत स्तंभ थे उनका चले जाना एक पूरे युग का चले जाना है। फेसबुक पर उनके बहुत से च ...

Read More »
आधुनिक परशुराम – लक्ष्मण संवाद

आधुनिक परशुराम – लक्ष्मण संवाद

(मान लिजिये सीता (सत्ता) का स्वंयवर वर्तमान युग में हो रहा होता तो शिव धनुष टूटने के बाद परशुराम और लक्ष्मण के बीच संवाद कैसे होता पढ़िये व्यंग्यकार रामबिलास गर्ग द्वारा लिखा गया ...

Read More »
scroll to top