Friday , 22 June 2018

Category: तीज त्यौहार

Feed Subscription

तीज, व्रत-त्यौहार हर दिन कोई न कोई होता ही है। त्यौहारों से जुड़ी जानकारियां इस सेक्शन में साझा की जायेंगी।

  • मलमास और रमज़ान की एकसाथ शुरुआत गज़ब का संयोग

    मलमास और रमज़ान की एकसाथ शुरुआत गज़ब का संयोग

    16 मई की तारीख को धर्म-कर्म में आस्था रखने वाले नोट कर लें। यह बहुत ही शुभ तारीख है। यही वो दिन है जिस दिन हिंदूओं के लिये अधिकमास जिसे मलमास और पुरुषोतम मास कहा जाता है की शुरुआत ...

  • चॉकलेट डे – कैसे खास बनेगा यह चॉकलेट डे

    चॉकलेट डे – कैसे खास बनेगा यह चॉकलेट डे

    वैलेंटाइन्स वीक चल रहा है। रोज देकर प्रपोज़ करने के बाद अब बारी अपने रिश्ते में मिठास घोलने की। और जब मीठे की हो तो याद आती है चॉकलेट। वैलेंटाइन्स वीक में चॉकलेट का खास महत्व होता ...

  • वैलेंटाइन डे हरियाणवी पोएट्री

    वैलेंटाइन डे हरियाणवी पोएट्री

      वैलेंटाइन डे पर पेश है आप सब के लिये हरियाणवी कविता जो एकतरफा प्यार करने वाले एक आशिक का अपने प्यार का इजहार और हरियाणवी लड़की के खतरनाक इंकार को बयां करती है। आशिक वचन – पू ...

  • फाल्गुन – फागण आरह्या रंग भरया पर….

    फाल्गुन – फागण आरह्या रंग भरया पर….

    फाल्गुन मास - फागुन का मस्त महीना फागण का म्हीनां भी कमाल का म्हीनां हो सै सब पै मस्ती का इसा खुमार छावै है के छोटै तै लेकै बड़े बडेरे तक मस्ती मैं झूमदे पांवैगे ज्यांए तै तो लोकगी ...

फल्गुतीर्थ उत्सव के रंग में डूबा फरल

फल्गुतीर्थ उत्सव के रंग में डूबा फरल

तीज-त्योंहार हो, मेले हो, या फिर कोई उत्सव... हरियाणा की कला का रंग हर कला-प्रेमी की अपने में यूं समेट लेता है जैसे दूध में घुली मिशरी हो... जी हां, कुछ ऐसा ही मनमोहक और मिठास भरा ...

Read More »
श्राद्ध पक्ष – कौन हैं पितर? कैसे होती है पितरों की शांति?

श्राद्ध पक्ष – कौन हैं पितर? कैसे होती है पितरों की शांति?

पितर..... वैसे तो ये शब्द बहुत ही श्रद्धा का प्रतीक है और भाद्रपद पूर्णिमा से लेके आश्विन मास का पूरा कृष्ण पक्ष यानि आश्विन अमावस्या तक तो पूरा पक्ष ही पितृपक्ष के नाम से जाना जा ...

Read More »
बकरीद के भोजन पर सरकार की निगाह

बकरीद के भोजन पर सरकार की निगाह

कहा जाता है कि धर्म और राजनीति को अलग-अलग रखा जाना चाहिए। राजनीति करते वक्त धर्म की आड़ नहीं लेनी चाहिए और धर्म को मनाते वक्त भी राजनीति से अपेक्षा नहीं होती है कि बीच में कोई दखल ...

Read More »
गोगा नवमी – गूगा पीर की छड़ी दादी कूद कै पड़ी

गोगा नवमी – गूगा पीर की छड़ी दादी कूद कै पड़ी

गूगा पीर की छड़ी दादी कूद कै पड़ी ये रुके इन दिनां मैं बाळका कै मूंह तै एक टेम मैं खूब सुणाई दिया करते। गूगा की छड़ी लेएं गूगा पीर के भगत घर-घर गूगा नौमी तै पहले ए डेरू की ढूं ढूं ...

Read More »
शिवरात्रि – 1 तारीख नै चढ़ावैंगें कांवड़िये शिवजी पै जल

शिवरात्रि – 1 तारीख नै चढ़ावैंगें कांवड़िये शिवजी पै जल

  आज कल बम बम भोले, हर-हर महादेव का नारा हर और गूंज रहा है। पूरा वातावरण बाबा भोलेभंडारी के जयकारों, नारों से गूंजायमान है। सब कुछ शिवमय हो गया है। सड़कों पर अपने कंधों पर रं ...

Read More »
scroll to top