Sunday , 27 May 2018

Category: साहित्य खास

Feed Subscription

साहित्य यानि कि कविताएं, कहानियां, पुस्तक समीक्षाएं, फिल्म समीक्षाएं, लोकगीत, रागनी आदि साहित्य से जुड़ी तमाम विधाओं के लिये यह सेक्शन है।

कामरेड लेनिन के स्टेचू पर हमला भगत सिंह के विचार को मारने कि हिन्दुत्व की असफल कोशिश

कामरेड लेनिन के स्टेचू पर हमला भगत सिंह के विचार को मारने कि हिन्दुत्व की असफल कोशिश

कामरेड लेनिन के स्टेचू पर हमला भगत सिंह के विचार को मारने कि हिन्दुत्व की असफल कोशिश सुबह-सुबह Whatsaap पर वीडियो मिला। मेरे अजीज साथी गौतम ने भेजा था। वीडियो में हिंदुत्व तालिबान ...

Read More »
कैंसर और इरादा फ़िल्म – एक समिक्षा

कैंसर और इरादा फ़िल्म – एक समिक्षा

कैंसर और इरादा फ़िल्म   ऐंगल्स ने कहा था कि किसी लेखक को अगर मारना है तो उसकी रचना पर चर्चा बन्द कर दो। एक चुप्पी बना लो। उसके पक्ष या विपक्ष में कोई चर्चा ही न करो। लेखक और उ ...

Read More »
वैलेंटाइन डे हरियाणवी पोएट्री

वैलेंटाइन डे हरियाणवी पोएट्री

  वैलेंटाइन डे पर पेश है आप सब के लिये हरियाणवी कविता जो एकतरफा प्यार करने वाले एक आशिक का अपने प्यार का इजहार और हरियाणवी लड़की के खतरनाक इंकार को बयां करती है। आशिक वचन – प ...

Read More »
रेड सेल्यूट ! कॉमरेड अजीत सिंह ज्याणी

रेड सेल्यूट ! कॉमरेड अजीत सिंह ज्याणी

  आदमी की महानता बाजार और भीड़ ही तय करे ये जरूरी नहीं, बुद्धिमता या व्यक्तित्व तौर पर कुछ आदर्श हमारे आसपास भी हो सकते हैं। हमारे पास किसी की कितनी भी यादें हो, जिए हुए पल हो ...

Read More »
अपराधी पेड़

अपराधी पेड़

अपराधी पेड़ हमारी जड़े पहचान ली गई हैं  वे सारी चीजें खोज ली गई हैं जो हमें बचाती थी तेज घूप में जलने से बरसात में बहने से ह्यूंन में बर्फ बनने से यह भी खोज लिया गया है नदी कैसे लेत ...

Read More »
विलक्षण प्रतिभा के धनी थे भारतेंदु हरिश्चंद्र

विलक्षण प्रतिभा के धनी थे भारतेंदु हरिश्चंद्र

हिंदी साहित्य के इतिहास में आधुनिक काल का आरंभ जिस विलक्षण प्रतिभा के धनी साहित्यकार के ज़िक्र से शुरू होता है, वह सुप्रसिद्ध चर्चित नाम है- भारतेंदु हरिश्चंद्र। एक ऐसे साहित्यकार ...

Read More »
सोशल साईट पर अनपढ़ों की जमात

सोशल साईट पर अनपढ़ों की जमात

सूचना-तकनीक का विकास वरदान भी है, और अभिशाप भी। पिछले कुछ सालों में मैं देख रहा हूं मेल-मिलाप, बातें, चिंतन, लेखन और पठन की ओर रूझान लगभग खत्म सा होता जा रहा है। तो वहीं फेसबुक, व ...

Read More »
इंकलाब इंकलाब इंकलाब

इंकलाब इंकलाब इंकलाब

इंकलाब इंकलाब इंकलाब इंकलाब इंकलाब इंकलाब हम सर्वहारा की आवाज़, इंकलाब सागर के तूफां को हमने वश में किया है पहाड़ के चट्टानों को भी वश में लिया है मालिकों की तानाशाही अब न सहेंगे ...

Read More »
साल का पहला सपना

साल का पहला सपना

साल का पहला सपना              किसी महान आदमी का कथन है कि सपने वो नहीं होते जो हमें नींद में आते है बल्कि सपने वो होते है जो हमें सोने नहीं देते। पर सपने तो सपने होते है। हर रोज न ...

Read More »
एक हमारी और एक उनकी

एक हमारी और एक उनकी

एक हमारी और एक उनकी एक हमारी और एक उनकी मुल्क में हैं आवाजें दो अब तुम पर है कौन सी तुम आवाज सुनों तुम क्या मानो हम कहते हैं जात धर्म से इन्सा की पहचान गलत वो कहते है सारे इंसा एक ...

Read More »
scroll to top