Friday , 24 November 2017

Home » खबर खास » दंगल – हानिकारक बापू धाकड़ छोरी

दंगल – हानिकारक बापू धाकड़ छोरी

November 23, 2016 1:07 pm by: Category: खबर खास, मनोरंजन खास Leave a comment A+ / A-

dangal-trailer

 

हानिकार बापू के बाद दंगल फिल्म का एक और गाना रिलिज हुआ है गाने का शीर्षक भी धाकड़ और गाना भी धाकड़ दरअसल जिस छोरी यानि गीता के लिये ये गाना लिखा गया है वही धाकड़ है तो गाना भी अपने आप में धाकड़ होना ही चाहिये था।

ट्रेलर से लेकर गानों तक आमिर खान के बैनर तले बनी फिल्म दंगल अभी तक सभी कसौटियों पर खरी उतर रही है। अक्सर बॉलीवुड ने हरियाणा की बहुत ही सतही और नकारात्मक छवि को ही अब तक प्रस्तुत किया था उसमें भी कुछ छिरोरे टाइप मज़ाक ज्यादा शामिल होते थे जिससे हरियाणा की छवि एक गंवार और जाहिल प्रदेश के तौर पर भी काफी हद तक स्थापित हुई है लेकिन आमिर खान की इस फिल्म में कलाकार, कहानीकार, गीतकार, संगीतकार और गायक भले हरियाणा में पैदा न हुए हों लेकिन हरियाणा की समझ उन्हें बखूबी है।

हानिकारक बापू और धाकड़ इन दो गाने अब तक फिल्म के रिलीज़ हुए हैं दोनों को अमिताभ भट्टाचार्य ने लिखा है। इन गानों के बोल सुनने के बाद लगता ही नहीं कि किसी गैर हरियाणवी ने यह कलम चलाई हो। हरियाणा की इतनी गूढ़ समझ तो कई हरियाणा में पले बढ़े गीतकारों को भी नहीं है यही कारण है कि इसके उदाहरण भी बहुत कम हैं। बल्कि हरियाणवी सोंग के नाम से यू ट्यूब या अन्य सोशल मीडिया पर सर्च किया जाये तो ऐसे ऐसे गाने आपको मिलेंगें कि आप खुद के हरियाणवी होने पर शर्मिंदा महसूस करें हालांकि क्षेत्रिय स्तर पर अश्लील गीत हर संस्कृति का हिस्सा रहे हैं लेकिन हमारे यहां यह चलन कुछ ज्यादा ही है।

बहरहाल संगीतकार प्रीतम जिसने दोनों गानों को लंबे समय तक दिमाग बजने वाली धुन देने के लिये शुक्रिया हालांकि प्रीतम को चोर संगीतकार भी कहा जाता है क्योंकि अक्सर उनका संगीत विदेशी व देशी धुनों पर आधारित होता है कई बार तो सेम टू सेम भी कॉपी मिलता है लेकिन हरियाणवी संगीत को एक नई दिशा देने में प्रीतम के संगीत से सजे ये दोनों गाने अपना योगदान दे सकते हैं। अमिताभ भट्टाचार्य की कलम को भी सलाम जिन्होंनें हरियाणवी मानस के अंतस की गहराइयों तक जाकर अपनी कलम का जादू बिखेरा फिलहाल पूरी दंगल टीम को इन बेहतरीन गीतों के लिये बधाई इंतजार रहेगा 23 दिसंबर का जब सिनेमाघर इस आर्थिक आपातकाल को धत्ता बताते हुए ठसाठस भरे होंगें।

निकर और टी शर्ट पहन के

आया साइक्लोन

रै निकर और टी शर्ट पहन के

आया साइक्लोन

लगा के फोन बता दे सबको

बच के रहियो बागड़ बिल्ली सै

चंडीगढ़ से या दिल्ली सी

तनै चारों खाने चित्त करदेगी

तेरे पूर्जे फिट करदेगी

टैट करदेगी तेरे दाव से

बढकै पेच पलट करदेगी

चित्त करदेगी चित्त करदेगी

ऐसी धाकड़ है धाकड़ है ऐसी धाकड़ है

दंगल – हानिकारक बापू धाकड़ छोरी Reviewed by on .   हानिकार बापू के बाद दंगल फिल्म का एक और गाना रिलिज हुआ है गाने का शीर्षक भी धाकड़ और गाना भी धाकड़ दरअसल जिस छोरी यानि गीता के लिये ये गाना लिखा गया है व   हानिकार बापू के बाद दंगल फिल्म का एक और गाना रिलिज हुआ है गाने का शीर्षक भी धाकड़ और गाना भी धाकड़ दरअसल जिस छोरी यानि गीता के लिये ये गाना लिखा गया है व Rating: 0

Leave a Comment

scroll to top