Tuesday , 21 November 2017

Home » खबर खास » …तो क्या RSS सदस्य हैं मेवात की हत्या और गैंगरेप के आरोपी ?

…तो क्या RSS सदस्य हैं मेवात की हत्या और गैंगरेप के आरोपी ?

September 8, 2016 2:03 pm by: Category: खबर खास Leave a comment A+ / A-

mewat-mutrder

कभी भगवा आतंकवाद, कभी गौ तस्करी, कभी जबरन गाय का गोबर खिलाने, तो कभी दंगों के मामले में शामिल माने जाने वाले आरएसएस का नाम अब मेवात में हुए दोहरे हत्याकांड और सामुहिक बलात्कार में भी जुड़ गया है। माफी चाहूंगा किसी भक्तजन को ये बात बुरी भी लग सकती है मगर मेरा उद्देश्य किसी की भावनाओं को आहत करना नहीं है। ऐसा नहीं कि अबसे पहले हरियाणा में बलात्कार नहीं हुए। हरियाणा इससे पहले भी ये घिनोनापन सहता आया है और लोगों के मानसिक स्तर में  बदलाव नहीं आया तो शायद सहता भी रहेगा। सतही तौर पर पढ़ने वालों के कान पर भले ही जूं तक रेंगे लेकिन समझदारों के लिए ये बात बहुत बड़ी है और गंभीर भी।

मामला मेवात का है। बीती 24 अगस्त को मेवात के डिंगरहेड़ी गांव में एक दर्दनाक वाकया घटता है। बात उस समय की है जब रात के समय आम लोग दिनभर की मेहनत के बाद नींद के आगोश में जा चुके होते हैं। दरअसल यहां पर एक किसान जूरूदीन की ढाणी पर हत्या व बलात्कार की जघन्य दरिंदगी का कहर टूटता है। 8 लोग घर में आते हैं एक औरत की हत्या करते हैं, उसके पति की हत्या करते हैं। दरिंदगी यहीं खत्म नहीं हो जाती। घर में सो रही दो बच्चियों को अपनी हवश का शिकार बनाते हैं और फुर्र…

घटना गंभीर भी है, चिंताजनक भी। मगर विडंबना ये कि घटना को कई दिन बीत जाने के बाद भी एक ओर जहां सरकार की ओर से कोई ठोस बयान नहीं आते तो वहीं प्रशासन द्वारा भी ढीलामस्ती देखी जाती है। कई संगठन पीड़ित परिवार के साथ सहानुभूति जताते हैं, उन्हें दिलासा देते हैं, ढांढस बंधवाते हैं। लेकिन अहम बात ये कि जो सगंठन देशभक्ति की बड़ी-बड़ी बातें कहता है। नारी सशक्तिकरण के दावे करता है, बेटी बचाने की, बेटी पढाने की बात करता है; कम से कम उसके लिए तो शर्मनाक है ये सब।

दरअसल मेवात की घटना के पीड़ित पक्ष ने दिल्ली में जाकर ये आरोप लगाया कि हरियाणा पुलिस और राज्य सरकार पर उन्हें कोई विश्वास नहीं है और दोनो ही शासन-प्रशासन आरोपियों को बचा रहे हैं। उन्होनें इस घटना को लेकर सरकार से सीबीआई जांच की भी मांग की है। पीड़िता का आरोप है कि इस घटना को अंजाम देने वालों में से दो जने आरएसएस और गौ रक्षा दल से संबंध रखते हैं और उन्होनें वहां पर ट्रेनिंग भी ली है।

वहीं पीड़ितों के वकील महमूदुल हसन के मुताबिक हरियाणा पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ जो धाराएं लगाई हैं वो ही सारी कहानी अपने आप में बयां कर रही है। उन्होनें यहां पर पत्रकारों को बताया कि पुलिस ने  आरोपियों पर जो 459 और 460 धारा लगाई थी वो सिर्फ घर में घुस कर मारपीट करने के बाद ही लगाई जाती है। उन्होनें कहा कि गांव के लोगों के दवाब की वजह से पुलिस ने बाद में हत्या और बलात्कार की धारा लगाई। मामले से सीधा जाहिर होता है कि अल्पसंख्यकों पर हो रही जुल्म की कहानियां जो अक्सर पढ़ी जाती है; झूठी नहीं होती। बहरहाल सीबीआई को चाहिए कि मामले की गंभीरता से जांच कर पीड़ितों को न्याय दिलवाएं।

…तो क्या RSS सदस्य हैं मेवात की हत्या और गैंगरेप के आरोपी ? Reviewed by on . कभी भगवा आतंकवाद, कभी गौ तस्करी, कभी जबरन गाय का गोबर खिलाने, तो कभी दंगों के मामले में शामिल माने जाने वाले आरएसएस का नाम अब मेवात में हुए दोहरे हत्याकांड और स कभी भगवा आतंकवाद, कभी गौ तस्करी, कभी जबरन गाय का गोबर खिलाने, तो कभी दंगों के मामले में शामिल माने जाने वाले आरएसएस का नाम अब मेवात में हुए दोहरे हत्याकांड और स Rating: 0

Leave a Comment

scroll to top