Saturday , 18 November 2017

Home » खबर खास » नरसिंह यादव को बड़ा झटका, फैसला सुनकर रो पड़े नरसिंह

नरसिंह यादव को बड़ा झटका, फैसला सुनकर रो पड़े नरसिंह

August 19, 2016 10:57 am by: Category: खबर खास Leave a comment A+ / A-

उम्मीदों, आशाओं की आंच पर पक रहे इंतजार के बाद कोई सकारात्मक ही फैसला आए; ऐसा जरूरी नहीं, उम्मीदें आपको तोड़ कर भी रख सकती है, उम्मीदें आपको रूला भी सकती है, उम्मीदें आपका कैरियर भी बर्बाद कर सकती है। ऐसा ही हुआ नरसिंह यादव के मामले में। गुरुवार को ब्राजील सीएएस यानी कैश की अदालत ने चार घंटे लंबी बहस के बाद आखिर फैसला सुना ही दिया। अपने फैसले में अदालत ने कहा कि नरसिंह यादव पर डोपिंग की वजह से चार साल का प्रतिबंध लगाया जा रहा है, उन्हें रियो ओलिंपिक में खेलने की इजाजत नहीं मिलेगी।

narsingh yadav

बता दें कि कैश (कोर्ट ऑफ ऑर्बिट्रेशन फॉर स्‍पोर्ट्स ) ने नाडा के फैसले को मानने से इनकार कर दिया। उन्‍होंने फैसला सुनाया कि उनके खाने या पीने में मिलावट की बात सही नहीं है। उन्‍होंने साजिश की बात मानने से इनकार करते हुए कहा कि इस बात को साबित करने के लिए नरसिंह के पास कोई सुबूत नहीं है। बता दें कि कल यानि वीरवार को आज होने वाले भारवर्ग के लिए वजन भी किया गया था, लेकिन आज कोई भारतीय पहलवान इसमें हिस्सा नहीं ले सकेगा।

क्या बोले कुश्ती संघ के अध्यक्ष

उधर फैसला आने के बाद भारतीय कुश्‍ती संघ के अध्‍यक्ष ब्रजभूषण शरण सिंह ने कहा कि इस पूरे मामले की सीबीआई से जांच होनी चाहिए। एक गिराहे ने ये काम किया है जिसके चलते एक खिलाड़ी की जिंदगी बर्बाद हो गई। नरसिंह की प्रतिक्रिया के बारे में पूछे जाने पर उन्‍होंने बताया कि वह रो रहे हैं और बात करने की स्थिति में नहीं है। बता दें कि कैश अदालत में चली चार घंटे लंबी बहस के बाद जब ब्रजभूषण शरण सिंह बाहर आए तो उनके चेहरे पर पहले जैसा उत्‍साह नहीं था।

नाडा के फैसले पर कई सवाल

कुश्‍ती संघ के अध्‍यक्ष ने ये भी बताया कि वाडा ने नाडा के फैसले पर कई सवाल किए, मसलन वाडा के वकील का कहना था कि सोनीपत में पहलवानों की ट्रेनिंग के दौरान जो खाने या पीने में मिलावट की बात कही जा रही है वो उससे सहमत नहीं हैं, इस बात को लेकर उनका कहना है कि इतनी कड़ी सुरक्षा में ऐसा किया जाना मुमकिन नहीं हैं। उसके चंद घंटों बाद ही नरसिंह पर पाबंदी का फैसला सुना दिया गया, जिसके बाद उम्मीदों पर बैठे तमाम खेलप्रेमी उदास हैं।

नरसिंह यादव को बड़ा झटका, फैसला सुनकर रो पड़े नरसिंह Reviewed by on . उम्मीदों, आशाओं की आंच पर पक रहे इंतजार के बाद कोई सकारात्मक ही फैसला आए; ऐसा जरूरी नहीं, उम्मीदें आपको तोड़ कर भी रख सकती है, उम्मीदें आपको रूला भी सकती है, उम उम्मीदों, आशाओं की आंच पर पक रहे इंतजार के बाद कोई सकारात्मक ही फैसला आए; ऐसा जरूरी नहीं, उम्मीदें आपको तोड़ कर भी रख सकती है, उम्मीदें आपको रूला भी सकती है, उम Rating: 0

Leave a Comment

scroll to top