Sunday , 22 October 2017

Home » खबर खास » नवजोत सिद्धू – लाफ्टर शो या राजनीति?

नवजोत सिद्धू – लाफ्टर शो या राजनीति?

नवजोत सिंह सिद्धू के मंत्री बनने पर कपिल शर्मा के कॉमेडी शो द कपिल शर्मा शो में हिस्सा लेने पर हंगामा

March 22, 2017 6:32 pm by: Category: खबर खास Leave a comment A+ / A-

पंजाब के नए मंत्रिमंडल शपथ ली। कांग्रेस ने नवजोत सिद्धू को डिप्टी सीएम ना बनाकर केवल मंत्री ही बनाया। कैप्टन अमरिंद्र सिंह ने राहुल गांधी को बता दिया था कि वरिष्ठ कांग्रेसी नेता सिद्धू को डिप्टी सीएम पद देने के खिलाफ हैं। राहुल गांधी सहमत हुए और सिद्धू को दो विभाग देकर संतुष्ट किया गया। इस के बावजूद द कपिल शर्मा शो को छोडऩे के लिए सिद्धू तैयार नहीं हैं। वे यहां तक कहते हैं कि सुबह मंत्री के रूप में पंजाब की सेवा करूंगा और रात को कपिल शर्मा शो में शामिल होऊंगा। सिद्धू कह रहे हैं कि सुखबीर बादल ने तो राजनीति को ही धंधा बना लिया था, जबकि वे तो इस लाफ्टर शो से ही रोजी रोटी कमाते हैं। उन्होंने ये भी कहा कि टीवी शो आफिस आफ प्रोफिट में कैसे आ सकता है? यदि ऐसा है तो किरण खेर सांसद होते हुए भी फिल्मों में काम कैसे कर रही हैं? वैसे तो मथुरा की भाजपा सांसद व अभिनेत्री हेमा मालिनी का उदाहरण भी है। वे तृत्यांगना के रूप में अपने शोज देती रहती हैं। पश्चिम बंगाल से सांसद बाबुल सुप्रियो गायक है और उन्होंने गायन छोड़ा नहीं है। दिल्ली से भाजपा सांसद मनोज तिवारी की गायन प्रतिभा ही उन्हें राजनीति में लाई। परेश रावल भी भाजपा से सांसद बनें। प्रसिद्ध कामेडियन और आप के नेता भगवंत मान सांसद हैं। गुल पनाग और गुरप्रीत घुग्गी भी आप में शामिल हैं, लेकिन चुनाव हार गए।

                सिद्धू एक बात भूल गए कि वे अमृतसर से तीन बार भाजपा के सांसद जरूर रहे हैं, लेकिन मंत्री नहीं थे। इसके बावजूद जब वे बिगबास के घर में गए थे, तब भाजपा ने उन्हें चुनाव प्रचार के लिए वापिस बुला लिया था। अब वे कांग्रेस में हैं। दो-दो विभागों के मंत्री हैं। राजनीति को ही पार्ट टाईम जोब नहीं है। इसे लाफ्टर शो के साथ बांटा नहीं जा सकता। बल्कि राजनीति के लिए तो फुल डोज और फुट टाइम चाहिए। ये सिद्धू को पहले सोचना था। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंद्र सिंह ने इस संबध में राज्य के एडवोकेट जनरल से राय मांगी है। इसके बाद ही वे कोई फैसला कर पाएंगे।

                खुद नवजोत सिद्धू ने यह कह कर भाजपा छोड़ी थी कि ये पार्टी उन्हें सिर्फ प्रदर्शनी घोड़ा बनाए रखना चाहती थी। यह बात उन्हें मजूंर नहीं थी। इस लिए भाजपा छोड़ दी। अब मंत्री बन जाने के बावजूद कपिल शर्मा शो में बने रहने से वे स्वयं को प्रदर्शनी घोड़ा ही तो साबित करने जा रहे हैं। उन्हें पूर्णकालिक राजनीति करनी होगी, तभी वे अपने पद व क्षेत्र की जनता के साथ इंसाफ कर सकेंगे। यदि लाफ्टर शो या किक्रेट कामेंट्री करनी थी तो पत्नी नवजोत कौर को चुनाव लडऩे देते और मंत्री बनने देते। खुद तो रोजगार और रौजी-रोटी की बात कर रहे हैं, और पत्नी को खुद ही बेरोजगार बना दिया। सिद्धू ऐसा क्यूं कर रहे हैं?

                सिद्धू जिन सैलिब्रिटीज के उदाहरण दे रहे हैं, उनमें से कोई भी मंत्री पद पर नहीं है। वे लोग तो संसद में भी कम ही दिखाई देते हैं। शत्रुघ्न सिन्हा तो सचिन तेन्दुलकर व रेखा तक को राज्यसभा में मनोनीत किए जाने को शोभा मात्र बता चुके हैं। सचिन ने विज्ञापन की कोई डेट मिश नहीं की होगी, लेकिन राज्यसभा की डेट याद रहती है या नहीं, कह नहीं सकते। सचिन किक्रेट के भगवान हो सकते हैं, पर राज्यसभा की पिच पर नहीं। रेखा फिल्मों में ग्लैमर बढ़ा सकती है, पर राज्यसभा तो जनता के सवालों को उठाने के लिए है। जया भादुड़ी, जयाप्रदा ने राज्यसभा में कितने मुद्दे उठाए, या कितने दिन भाग लिया, यह सूचना के अधिकार का मामला है। नवजोत सिद्धू को फिर से अपनी भूमिका को लेकर मंथन करना चाहिए।

kamlesh-bhartiyaलेखक परिचय

कमलेश भारतीय हरियाणा ग्रंथ अकादमी के पूर्व उपाध्यक्ष रहे हैं। इससे पहले खटकड़ कलां में शहीद भगतसिंह की स्मृति में खोले सीनियर सेकेंडरी स्कूल में ग्यारह साल तक हिंदी अध्यापन एवं कार्यकारी प्राचार्य।  फिर चंडीगढ से प्रकाशित दैनिक ट्रिब्यून समाचारपत्र में उपसंपादक,  इसके बाद हिसार में प्रिंसिपल रिपोर्टर । उसके बाद नवगठित हरियाणा ग्रंथ अकादमी के उपाध्यक्ष बने। कथा समय मासिक पत्रिका का संपादन। मूल रूप से पंजाब के नवांशहर दोआबा से, लेकिन फिलहाल रिहाइश हिसार में। हिंदी में स्वतंत्र लेखन । दस संकलन प्रकाशित एवं एक संवाददाता की डायरी को प्रधानमंत्री पुरस्कार।

नवजोत सिद्धू – लाफ्टर शो या राजनीति? Reviewed by on . पंजाब के नए मंत्रिमंडल शपथ ली। कांग्रेस ने नवजोत सिद्धू को डिप्टी सीएम ना बनाकर केवल मंत्री ही बनाया। कैप्टन अमरिंद्र सिंह ने राहुल गांधी को बता दिया था कि वरिष पंजाब के नए मंत्रिमंडल शपथ ली। कांग्रेस ने नवजोत सिद्धू को डिप्टी सीएम ना बनाकर केवल मंत्री ही बनाया। कैप्टन अमरिंद्र सिंह ने राहुल गांधी को बता दिया था कि वरिष Rating: 0

Leave a Comment

scroll to top