Thursday , 19 October 2017

Home » खबर खास » हरियाणा में ‘चंद्रावल’ जैसी एक और फिल्म की आहट

हरियाणा में ‘चंद्रावल’ जैसी एक और फिल्म की आहट

September 23, 2016 6:41 pm by: Category: खबर खास, मनोरंजन खास Leave a comment A+ / A-

new-film-haryana

पगड़ी-द ऑनर और सतरंगी के उपरांत हरियाणा के सिनेमा में जिस तरह से बदलाव देखा जा रहा है वहीं परदे के पीछे नए गीत और पटकथाएं भी लिखी जा रही हैं। हरियाणवी सिनेमा को लेकर जितना उत्साह फिल्म निर्देशको, निर्माताओं में है तो उतना ही हौसला अभी-अभी जवां हो रही युवा पीढी में भी देखा जा रहा है। वहीं हरियाणा के नए अभिनेताओं में भी इसे लेकर अच्छा जुनून है।

हरियाणा के फिल्म अभिनेता यशपाल शर्मा ने जल्द ही पर्दे पर चंद्रावल के मुकाबले की एक और फिल्म हरियाणवी सिनेमा में आने की बात कही है। उन्होनें शोसल मीडिया के अकाउंट पर एनएसडी से पासआउट एवं करनाल  के फिल्म निर्माता-निर्देशक अमितोष नागपाल की तस्वीर लगाकर लिखा है कि उन्होनें हाल ही में एक बेहतरीन फिल्म स्क्रिप्ट उनसे साझा की है।

अमितोष को लेकर यशपाल लिखते हैं कि ‘दबंग’, ‘बेशर्म’ और ‘आरक्षण’ जैसी फिल्मों में अभिनय कर चुके अमितोष एक बेहतरीन एक्टर,राइटर,सिंगर और गीतकार भी है। उन्होनें बताया कि अमितोष द्वारा हाल ही में सुनाई गई स्क्रीप्ट वाकई हैरान करने वाली है। उन्होनें लिखा कि ‘नई सोच नई कहानी, क्या ऐसी भी लव स्टोरी हो सकती है जो हंसा हंसा कर लोटपोट कर दे और रुला रुला जाये…’ वहीं उन्होनें गानों, किरदारों और फिल्म डायलॉग्स की भी अच्छी तारीफ की।

यशपाल शर्मा के मुताबिक अमितोष ही इसके असली हीरो हैं और स्क्रीन पर भी वे ही नजर आएंगे, वहीं यशपाल इसमें विलेन की भूमिका में दिखने की बात कह रहे हैं। उनके मुताबिक फिल्म हरियाणवी में बनेगी और धमाल मचाएगी। उन्होनें कहा कि ये कहानी वैसे हीरो विलन टाइप नही है पर इतना भरोसा है कि इसमें दर्शकों की बात करें तो चन्द्रावल का युग वापस आने की उम्मीद है। वहीं उन्होनें फिल्म को लेकर अमितोष का पूरा सहयोग देने की बात कही और भविष्य को लेकर शुभकामनाएं भी दी।

हरियाणा में ‘चंद्रावल’ जैसी एक और फिल्म की आहट Reviewed by on . पगड़ी-द ऑनर और सतरंगी के उपरांत हरियाणा के सिनेमा में जिस तरह से बदलाव देखा जा रहा है वहीं परदे के पीछे नए गीत और पटकथाएं भी लिखी जा रही हैं। हरियाणवी सिनेमा को पगड़ी-द ऑनर और सतरंगी के उपरांत हरियाणा के सिनेमा में जिस तरह से बदलाव देखा जा रहा है वहीं परदे के पीछे नए गीत और पटकथाएं भी लिखी जा रही हैं। हरियाणवी सिनेमा को Rating: 0

Leave a Comment

scroll to top