Saturday , 18 November 2017

Home » साहित्य खास » नोटबंदी पर मोदी विरोधी की कविताएं

नोटबंदी पर मोदी विरोधी की कविताएं

आप सबकी ताली और भक्तों की गाली दोनों का स्वागत

November 24, 2016 5:54 pm by: Category: साहित्य खास Leave a comment A+ / A-

 

aarthik-aapatkal

1

भक्त मार रहे रूक्के मोदी नै बोल्ड स्टैप उठाया है
मैं कहूं इस एक कदम नै पूरा देश रंभाया है

वें मारैं सैं रूके इसतै काळा धन काबू आ ज्यागा
मैं कहूं काळा धोळा हो लिया इब बता के ठ्या जागा
वें कह रे सैं भ्रष्टाचार पै कदम यू लगाम लगा ज्यागा
मैं कहूं सूं 2 हजारी एक नई जमात बणा ज्यागा
यू बहम तनै रै खा ज्यागा तू किसका फिरै बुहकाया सै
तेरे एक कदम नै मोदी जी यू पूरा देश रंभाया है

वें कह रे हैं बड़े सेठां इब चढ़ै करड़ाई
मैं कहूं देश की जनता खड़ी लैन म्हं भाई
वें कह थोड़ी सी काली है खामखां बड़ी बणाई
मैं कहूं मरे सैं 50 तै ऊपर के देता नहीं दिखाई
ना रोटी दाल दवाई मिलती इस बात नै सहम चढ़ाया सै
तेरे एक कदम नै मोदी जी यू पूरा देश रंभाया है

वे कहरे सैं बात नै थाम बढ़ा चढ़ा कै बताओ सो
मैं कहरह्या थाम इसकै ब्हानै आकै हमनै धमकाओ सो
वे कहैं मोदी जो कर रह्या है वो ओर किसे नै करया नहीं
मैं कहूं या साची थारी देश आज तक इतणा डरया नहीं
नेता नै पूंजीपति बिन सरया नहीं फैदा उन तै प्होंचाया है
तेरे एक कदम नै मोदी जी यू पूरा देश रंभाया है

वे कह दूर की सोच हमनै मोदी मैं देवै दिखाई
मैं कहूं अडानी अंबानियां की इसनै दुकान चलाई
50 दिनां मैं आच्छे दिनां की चलैगी हवा फर्राई
मैं कहूं आपणी मेहनत की पूंजी ले बैंका तै विदाई
तेरी मेरी इबे नी बारी आयी पर दिखै जल्दी नंबर आया
तेरे एक कदम नै मोदी जी यू पूरा देश रंभाया है

2. हानिकार बापू की तर्ज पर हानिकारक मोदी

मोदी विकास के लिये
तू तो हानिकारक है
जनता थोड़ी हम पे दया करो
जन बुद्धि से बालक है

तूने बोला छोड़ा घर इस देश की खातिर
तू तो नेता है शातिर मोदी जी नेता है शातिर
जो भी तुमपे सवाल करे उसको बतलादो काफिर
तू तो नेता है शातिर मोदी जी नेता है शातिर

हम्म आच्छे दिन आवैंगे कहकै
सबका मन भरमाया
100 दिन भीतर कह था जो वो
काळा धन ना ल्याया…..
(तनै जाण गे रै मोदी)
गौ रक्षा और देशभक्ति का
तूने जो पाठ पढाया
देख तो एकबै तेरे गुंडों ने
कितणा जुल्म ढहाया
जन के मन में मोदी हिटलर सा अधिनायक है

पांच सौ हजार के नोट यहां पर चलना है मना
यो तो टॉर्चर है घणा मोदी जी टॉर्चर है घणा
काला धन आने का पकड़ा डाला झुनझुना
यो तो टॉर्चर है घणा मोदी जी टॉर्चर है घणा

हम्म काले धन वाले मोदी जी
आपके संग में रहते
अडानी अंबानी के यहां काले
धन के दरिया बहते
(तनै मान गे रै मोदी)
अपनों को सब खबर थी पहले
लोग सुने यह कहते
काले उनका सफेद हो चुका वरना
कैसे ये दुख सहते
मजदूर किसान के हाल देख कितने दुखदायक हैं

3. हर हर मोदी – घर घर मोदी

सारे एटीएम खाली
सब लोग बैठे हैं ठाली
चलो मित्रों चलें मंदिर में
दिन रात बजाएं टाली
बोलो हर हर हर हर मोदी
बोलो घर घर घर घर मोदी
हम तो डर डर डर डर गए मोदी
हम तो मर मर मर मर गए मोदी

उधार न मिलता राशन
भूखे भाये न भाषण
लाइन में लगते घंटों हैं
फिर मिलता है आश्वासन
बोलो हर हर हर हर मोदी
बोलो घर घर घर घर मोदी
हम तो डर डर डर डर गए मोदी
हम तो मर मर मर मर गए मोदी

घर पर बेटी की शादी
कुछ ने आगे टहला दी
जिनकी की बारातें दर पे
उनकी मिट्टी पलीत करादी
बोलो हर हर हर हर मोदी
बोलो घर घर घर घर मोदी
हम तो डर डर डर डर गए मोदी
हम तो मर मर मर मर गए मोदी

ये सीज़न बुवाई का
खाद और बीज दवाई का
अगर बिजाई नहीं तो आगे
समय बहुत कठिनाई का
बोलो हर हर हर हर मोदी
बोलो घर घर घर घर मोदी
हम तो डर डर डर डर गए मोदी
हम तो मर मर मर मर गए मोदी

होंगें खर्च लाख कारोड़ां
काला धन मिलेगा थोड़ा
लिखवा के मुझसे लेलो
दौड़ा नहीं अक्ल का घोड़ा
बोलो हर हर हर हर मोदी
बोलो घर घर घर घर मोदी
हम तो डर डर डर डर गए मोदी
हम तो मर मर मर मर गए मोदी

हे मोदी महाराज
तुम मत होना नाराज़
क्या कर सकते हैं चेले
है इसका मुझे अंदाज़
बोलो हर हर हर हर मोदी
बोलो घर घर घर घर मोदी
हम तो डर डर डर डर गए मोदी
हम तो मर मर मर मर गए मोदी

जगदीप सिंह मेरा नाम
राजथल मेरा गाम
हरियाणा की माटी में
आजकल गुरुग्राम है धाम
बोलो हर हर हर हर मोदी
बोलो घर घर घर घर मोदी
हम तो डर डर डर डर गए मोदी
हम तो मर मर मर मर गए मोदी

 

 

नोटबंदी पर मोदी विरोधी की कविताएं Reviewed by on .   1 भक्त मार रहे रूक्के मोदी नै बोल्ड स्टैप उठाया है मैं कहूं इस एक कदम नै पूरा देश रंभाया है वें मारैं सैं रूके इसतै काळा धन काबू आ ज्यागा मैं कहूं काळा ध   1 भक्त मार रहे रूक्के मोदी नै बोल्ड स्टैप उठाया है मैं कहूं इस एक कदम नै पूरा देश रंभाया है वें मारैं सैं रूके इसतै काळा धन काबू आ ज्यागा मैं कहूं काळा ध Rating: 0

Leave a Comment

scroll to top