Wednesday , 22 November 2017

Home » तीज तयोहार » प्रपोज डे – कैसे करें इज़हार

प्रपोज डे – कैसे करें इज़हार

February 8, 2017 1:32 am by: Category: तीज तयोहार 1 Comment A+ / A-

वैलेंटाइन वीक की शुरूआत आपने अपने चाहने वालों को अलग अलग गुलाब देकर कर ली होगी। रोज़ डे से अगले रोज होता है प्रपोज डे। प्रपोज यानि इजहार यानि कि अपने प्रेम को अपने चाहने वाले के सामने अपनी पसंद के सामने अभिव्यक्त करना। प्रेम की अभिव्यक्ति करने यानि इजहार ए महोब्बत का यह दिन वैलेंटाइन वीक यानि प्रेम सप्ताह का दूसरा दिन होता है। इस दिन का अर्थ यही है कि यदि हम किसी से प्यार करते हैं उसका इजहार करने में कैसी हिचक लेकिन हां यहां प्रेम की अभिव्यक्ति आप किससे कर रहे हैं यह मायने रखता है और उससे अधिक मायने रखता है कि अपने प्रेम का इजहार आप कैसे करते हैं। तो इन्हीं कुछ सवालों के जवाब अपने इस लेख में जानने का प्रयास करेंगें कि कैसे करें इजहार ए महोब्बत।

अपने प्यार का इजहार करने के लिये सबसे पहले आप खुद से यह पूछें कि जिससे आप अपनी महोब्बत का इजहार करना चाहते हैं क्या वह भी आपको चाहता है। चाहता भले ना हो क्या वह आपको अच्छे से जानता है। अब कोई यह भी कह सकता है भला यह भी कोई बात हुई कि जो जानता ही न हो उससे भला कोई इजहार कैसे कर सकता है। लेकिन आपकी जानकारी के लिये बता दूं ये दुनिया ऐसे ऐसों की भरी पड़ी है। ओर भी बुरा तब लगता है जब आप बड़ी उम्मीद लेकर, हिम्मत जुटाकर अपने प्यार का इजहार करते हैं और सामने वाला उसे ठोकर मारकर इंकार कर चला जाता है। कई बार इसके दुष्परिणाम भी सामने आते हैं और कुछ सरफिरे आशिक अपनी खिज़ सामने वाले को नुक्सान पंहुचा कर निकालते हैं। यानि बदला लेने जैसी कार्रवाई करते हैं। तेजाब फेंकने के कई उदाहरण हमारे सामने हैं। तो यदि आप किसी को चाहते हैं तो यह जान लें कि यह कतई जरूरी नहीं है कि सामने वाला भी आपको चाहे। आप अपन प्रेम की अभिव्यक्ति करें लेकिन सामने वाले के इंकार की इज्जत भी करें। हाल ही में आयी हिंदी फिल्म पिंक में अमिताभ का डायलॉग तो याद होगा नो मिन्स नो यानि ना का मतलब ना है। तो इस ना को सहज स्वीकार करें आपको प्यार का अर्थ समझ आ जायेगा। प्यार त्याग का समर्पण का नाम है। प्यार में सिर्फ दिया जाता है, मिलने की अपेक्षा नहीं की जाती। इसलिये तो प्यार को आग का दरिया तक कहा है। इतना आसान खेल नहीं है प्यार का जितना यह बाहर से लगता है।

इसलिये प्रेम की अभिव्यक्ति में पहली चीज़ प्यार की समझ हो। उसके बाद जब आप आगे बढ़ें तो सामने वाले से किसी प्रकार अपेक्षाएं न हों उनके हर उत्तर की यानि स्वीकार और इंकार दोनों ही स्थितियों में इज्जत हो। जितना हो सके अपनी भाषा को शालीन व रोमांटिक रखें। अच्छे कवियों की, शायरों की पंक्तियों को इजहार ए महोब्बत के लिये याद करें। जो भी भाव आपके मन में उठते हैं उन्हें कागज पर अपने शब्दों में उतारने का प्रयास स्वंय भी कर सकते हैं। यदि आप अपने प्यार की तारीफ में स्वंय का लिखा कुछ पेश करेंगें तो उसका असर ज्यादा गहरा होने के चांस है और आप एक सकारात्मक जवाब का इंतजार कर सकते हैं।

यह सब तो नये खिलाड़ियों की बात है जो मंझे हुए कलाकार हैं उन्हें ज्यादा कुछ बताने की जरूरत तो नहीं है फिर भी कई बार यह सोच लिया जाता है कि हमें तो इतने साल हो गये अब क्या इजहार करेंगें तो प्यार का इजहार जितनी बार भी करो कम ही रहता है। आप जितनी बार इजहार ए महोब्बत करोगे आपके साथी को उतनी ही खुशी मिलेगी। उनकी खुशी से आपका जीवन भी चहक उठेगा। अविवाहित से लेकर विवाहित जीवन में प्रेम के पंछी एक दूसरे के प्रति अपने प्यार का इजहार जरूर करें।

प्रपोज डे – कैसे करें इज़हार Reviewed by on . वैलेंटाइन वीक की शुरूआत आपने अपने चाहने वालों को अलग अलग गुलाब देकर कर ली होगी। रोज़ डे से अगले रोज होता है प्रपोज डे। प्रपोज यानि इजहार यानि कि अपने प्रेम को अ वैलेंटाइन वीक की शुरूआत आपने अपने चाहने वालों को अलग अलग गुलाब देकर कर ली होगी। रोज़ डे से अगले रोज होता है प्रपोज डे। प्रपोज यानि इजहार यानि कि अपने प्रेम को अ Rating: 0

Comments (1)

Leave a Comment

scroll to top