Tuesday , 26 September 2017

Home » खबर खास » विकास कार्य न होने से ग्रामीण नाराज हल्का विधायक पर अनदेखी व भेदभाव के आरोप

विकास कार्य न होने से ग्रामीण नाराज हल्का विधायक पर अनदेखी व भेदभाव के आरोप

August 30, 2016 9:58 am by: Category: खबर खास Leave a comment A+ / A-

28 pun 04

वैसे तो पूरे प्रदेश में ही सड़कों की हालात खस्ता है… कहीं कहीं खड्डों पर टांकिया लगाकर खानापूर्ति हुई तो बारिश ने उन गड्ढों को फिर से हरा-भरा कर दिया। लेकिन पूंडरी क्षेत्र के गांव सोलूमाजरा, खेड़ी रायवाली, बंदराना, रसूलपुर, बरोट, बेगपुर, गुमथला आदि दर्जनों गाँवो को जोड़ने वाली सड़क और भी दुर्दशा का शिकार है आलम यह है कि आस-पास के ग्रामीण मौजूदा और पूर्व विधायक पर अनदेखी व भेदभाव के आरोप लगा रहे हैं। बंदराना के लोगों का तो यहां तक कहना है कि पिछले 15 साल से विकास नाम का कोई बच्चा उनके यहां पैदा नहीं हुआ। अच्छे दिनों की घोषणा के बाद भी उनकी सड़कों के गड्ढें तो जख्मों की तरह गहरा रहे हैं।

हालांकि विधायक और भाजपा नेताओं से जब भी बात करने ग्रामीण जाते हैं तो अच्छी खासी सांत्वना मिल जाती है लेकिन ये भी कहा जाता है कि आपके यहां विकास कार्यों के लिये पैसा मंजूर हुआ है लेकिन हालातों में सुधार कब होगा इस बारे में कुछ भी नहीं कहते।

ग्रामीणों का कहना है कि कई साल पहले गांव में सरकारी और निजी बसें चलती थी लेकिन सड़क ज्यादा ख़राब होने के कारण वे बसें आजकल पेहोवा रूट पर चल रही हैं और हमें परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इस रुट पर मंजूर बसों का दूसरे रूट पर चलना भी कानूनन लोगों को गलत लगता है लेकिन कहीं कोई सुनने वाला नहीं। बंदराना में तो सड़क की समस्या ही नहीं बल्कि पानी की निकासी न होना भी विकराल समस्या बनती जा रही है। संक्रमण के इस मौसम में तो यह समस्या उन्हें ग्रामीणों की सेहत पर भारी पड़ती भी नजर आती है। हालांकि सरपंच गांव वालों के साथ हैं और समय समय पर सफाई अभियान भी चलवाते हैं लेकिन सरपंच का भी अपना दर्द है। सरपंच कृष्ण कुमार कहते हैं आठ महीने हो गये हैं उन्हें सरपंच बने लेकिन अभी तक कोई भी ग्रांट सरकार की ओर से नहीं मिली है बिना किसी ग्रांट के सारे विकास कार्य रुके पड़े हैं। ग्रामीण कई बार विधायक के पास समस्या को लेकर गए हैं लेकिन निराश होकर ही लौटे हैं।

वहीं आठ महीने पहले कैथल में एक कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने घोषणा की थी कि गांवों को मुख्य राजमार्गों व राष्ट्रीय राजमार्गों से जोड़ने वाली सड़कों का चौड़ीकरण कर उन्हें 4 लेन और 10 मीटर तक किया जायेगा लेकिन 8 महीने पहले हुई घोषणा पर अभी तक कुछ भी अमल नहीं किया गया है। ग्रामीण नाराज हैं कि 4 लेन जब होगा तब होगा तब तक इन सड़कों के गड्ढे ही मुख्यमंत्री भरवा देते तो कुछ राहत मिल जाती। ग्रामीण स्थानीय नेताओं से नाराज हैं कि चुनाव के दौरान सभी मुंह उठाकर वोट मांगने चले आते हैं… लंबे चौड़े भाषणों में वादों पर विश्वास कर हम उन्हें वोट भी दे देते हैं लेकिन हमारे विश्वास का सिला ये मिलता है कि अब हमारी बात तक सुनने वाला कोई नहीं है।

बहरहाल विकास व अच्छे दिनों के नारे देकर मत हासिल करने वाली सरकार कब अपनी घोषणाओं को अमलीजामा पहनायेगी और कब इन लोगों का गुस्सा शांत होगा देखना होगा।

हरियाणा खास के लिये पूंडरी से कृष्ण प्रजापति की रिपोर्ट

 

विकास कार्य न होने से ग्रामीण नाराज हल्का विधायक पर अनदेखी व भेदभाव के आरोप Reviewed by on . वैसे तो पूरे प्रदेश में ही सड़कों की हालात खस्ता है... कहीं कहीं खड्डों पर टांकिया लगाकर खानापूर्ति हुई तो बारिश ने उन गड्ढों को फिर से हरा-भरा कर दिया। लेकिन प वैसे तो पूरे प्रदेश में ही सड़कों की हालात खस्ता है... कहीं कहीं खड्डों पर टांकिया लगाकर खानापूर्ति हुई तो बारिश ने उन गड्ढों को फिर से हरा-भरा कर दिया। लेकिन प Rating: 0

Leave a Comment

scroll to top