Saturday , 23 September 2017

Home » खबर खास » …और कैरोलिना से टक्कर के बाद चांदी ही बचा पाई आखिर सिंधू

…और कैरोलिना से टक्कर के बाद चांदी ही बचा पाई आखिर सिंधू

August 19, 2016 11:08 pm by: Category: खबर खास Leave a comment A+ / A-

कहते हैं युद्ध में जय बोलने वालों का भी महत्व होता है, और महत्व साकार भी हुआ, भारत के लिए रियो ओलिंपिक में गोल्ड के लिए संघर्ष करने वाली सिंधु ने फाइनल में जो टक्कर दिखाई, वो उसी उद्घोष की परिणाम थी, उन्हीं नारों का परिणाम थी जो पिछले दो दिन से उनके लिए लग रहे थे। पूरा देश सिंधू से सोना मांग रहा था, मगर सिंधू भारत को सोना नहीं दे पाई उसे चांदी से ही संतोष करना पड़ा।

Spain's Carolina Marin (R) reacts after winning against India's Pusarla V. Sindhu during their women's singles Gold Medal badminton match at the Riocentro stadium in Rio de Janeiro on August 19, 2016, for the Rio 2016 Olympic Games. Spain's Carolina Marin won the match. / AFP / GOH Chai Hin        (Photo credit should read GOH CHAI HIN/AFP/Getty Images)

Spain’s Carolina Marin (R) reacts after winning against India’s Pusarla V. Sindhu during their women’s singles Gold Medal badminton match at the Riocentro stadium in Rio de Janeiro on August 19, 2016, for the Rio 2016 Olympic Games.
Spain’s Carolina Marin won the match. / AFP / GOH Chai Hin (Photo credit should read GOH CHAI HIN/AFP/Getty Images)

बता दें कि स्पेन की खिलाड़ी पहले गेम में सिंधू पर हावी थीं और उन्होंने 14-10 की बढ़त बना ली थी, लेकिन भारतीय खिलाड़ी सिंधू ने वापसी करते हुए 27 मिनट में 21-19 से गेम अपने नाम कर लिया। उत्साह के साथ दूसरे राउंड में भी सिंधू ने ने कैरोलिना के साथ डटकर मुकाबला किया मगर इस बार सिंधू में राउंड गंवा दिया और 1-1 की बराबरी पर आ गई।

1-1 के बाद भी सिंधू पूरी तरह से उत्साहित थी, सिंधू को विश्वास था वो देश के लिए सोना जीतेंगी मगर सिंधू आखिरी राउंड में कड़ी टक्कर देते हुए भी पिछड़ गई गेम हाथ से खो बैठीं और उन्हें रजत पदक से ही संतोष करना पड़ा। उनका स्कोर 21-19, 12-21, 14-20 रहा। वहीं इसके साथ ही पी वी सिंधू ओलिंपिक शटलर का फाइनल मुकाबला खेलने वाली पहली खिलाड़ी बन गई।

…और कैरोलिना से टक्कर के बाद चांदी ही बचा पाई आखिर सिंधू Reviewed by on . कहते हैं युद्ध में जय बोलने वालों का भी महत्व होता है, और महत्व साकार भी हुआ, भारत के लिए रियो ओलिंपिक में गोल्ड के लिए संघर्ष करने वाली सिंधु ने फाइनल में जो ट कहते हैं युद्ध में जय बोलने वालों का भी महत्व होता है, और महत्व साकार भी हुआ, भारत के लिए रियो ओलिंपिक में गोल्ड के लिए संघर्ष करने वाली सिंधु ने फाइनल में जो ट Rating: 0

Leave a Comment

scroll to top