Thursday , 19 October 2017

Home » खबर खास » SYL – मुद्दा बनाये रखना जरूरी है मुद्दा खत्म राजनीति खत्म

SYL – मुद्दा बनाये रखना जरूरी है मुद्दा खत्म राजनीति खत्म

February 23, 2017 11:15 pm by: Category: खबर खास Leave a comment A+ / A-

अक्सर कहा जाता है कि तीसरा विश्वयुद्ध पानी के लिये होगा लेकिन फिलहाल तो इनेलो यानि हरियाणा की इंडियन नेशनल लोकदल पार्टी पंजाब से सतलुज यमुना लिंक नहर यानि SYL की खुदाई कर पानी लाने की कह रही है। एक रिपोर्ट के मुताबिक लाखों की तादाद में इनेलो कार्यकर्ता कस्सी फावड़े लेकर अंबाला में पंहुचे भी है जिन्हें पंजाब बोर्डर पर रोक लिया गया है।
हरियाणा में जाट आरक्षण को लेकर पहले ही तनाव की स्थिति बनी हुई है। जातीय तनाव बढ़ने के कई वाकियात भी सामने आ रहे हैं। ऐसे में इनेलो का जलयुद्ध क्षेत्रीय वैमनस्य को न बढ़ा दे यह चिंता की बात हो सकती है। हालांकि इनेलो जो करने जा रही है उसके आदेश तो सर्वोच्च न्यायालय भी दे चुका है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि नहर का निर्माण करना ही होगा।
नहर की खुदाई इनेलो कर पायेगी या नहीं देखना होगा लेकिन जलयुद्ध के बाद इनेलो का अगला मुद्दा चंडीगढ़ के मुद्दे को सुलझाने का भी रहेगा।
गौरतलब है कि काफी लंबे अरसे से राजधानी व पानी का मुद्दा हरियाणा व पंजाब के गले की फांस बना हुआ है समाधान होता नहीं है लेकिन राजनीति खूब हो रही है। राजनीतिक पार्टियां इसे अपने अपने तरीके भुनाने में लगी है। यदि एक आकलन करके देखें तो इनेलो जो कि अब जल युद्ध छेड़ रही है और सत्ताधारी भाजपा सहित अन्य दलों पर मुद्दे को न सुलझने देने के आरोप लगा रही है उसके स्वयं के संबंध सत्ता में रहते हुए पंजाब की वर्तमान सत्तासीन पार्टी शिरोमणि अकाली दल के साथ रहे हैं। सत्ता में रहते हुए एसवाईएल के मुद्दे का हल न करवाने के आरोपों से इनेलो भी नहीं बची है और उस पर अक्सर ये आरोप लगते रहें हैं बादल परिवार के साथ उसकी चूल्हे तक दौड़ है तो फिर पानी का मुद्दा क्यों नहीं सुलझाया।
वहीं कांग्रेस की बात करें तो कांग्रेस की सरकार केद्र से लेकर दोनों राज्यों में भी रही है लेकिन क्षेत्रीय राजनीति के कारण मुद्दा सुलझाने के गंभीर प्रयास कांग्रेस ने भी नहीं किये।
भाजपा और अकाली दल की दोस्ती भी किसी से छुपी नहीं है और अब हरियाणा सहित केंद्र में भाजपा काबिज़ है और पंजाब में सहयोगी दल की सरकार है लेकिन बातों के अलावा धरातल पर कुछ नहीं हो रहा है। हरियाणा सरकार दिखाने का प्रयास तो करती है कि वह गंभीर है लेकिन कोई कड़ा कदम उठाने की मंशा सरकार की नहीं है।
पंजाब में चाहे कांग्रेस की सरकार रही हो या अकालीदल की एसवाईएल व चंडीगढ़ के मुद्दे पर दोनों क्षेत्रीय हित के कारण सहमत हैं। प्रगतिशील लगने वाली आम आदमी पार्टी के केजरीवाल तक ने दिल्ली हरियाणा को दरकिनार कर पंजाब चुनाव के मद्देनजर पंजाब के सुर में ही सुर मिलाया था।
कुल मिलाकर वर्तमान में हो रही राजनीति पर यही कहा जा सकता है कि राजनीति करने के लिये मुद्दे को बनाये रखना जरूरी है। मुद्दा खत्म तो राजनीति खत्म।

SYL – मुद्दा बनाये रखना जरूरी है मुद्दा खत्म राजनीति खत्म Reviewed by on . अक्सर कहा जाता है कि तीसरा विश्वयुद्ध पानी के लिये होगा लेकिन फिलहाल तो इनेलो यानि हरियाणा की इंडियन नेशनल लोकदल पार्टी पंजाब से सतलुज यमुना लिंक नहर यानि SYL क अक्सर कहा जाता है कि तीसरा विश्वयुद्ध पानी के लिये होगा लेकिन फिलहाल तो इनेलो यानि हरियाणा की इंडियन नेशनल लोकदल पार्टी पंजाब से सतलुज यमुना लिंक नहर यानि SYL क Rating: 0

Leave a Comment

scroll to top