Tuesday , 17 July 2018

सोशल साईट पर अनपढ़ों की जमात

सोशल साईट पर अनपढ़ों की जमात

सूचना-तकनीक का विकास वरदान भी है, और अभिशाप भी। पिछले कुछ सालों में मैं देख रहा हूं मेल-मिलाप, बातें, चिंतन, लेखन और पठन की ओर रूझान लगभग खत्म सा होता जा रहा है। तो वहीं फेसबुक, व ...

Read More »
क्या धर्म मुझे अच्छी सैलरी दे सकता है?

क्या धर्म मुझे अच्छी सैलरी दे सकता है?

  मैं कोई कट्टर हिंदू नहीं। न ही कट्टर मुसलमान। आदमी हूं। मानवीयता है मुझमें। नीचे चित्र दिखाई दे रहा है। जिसमें एक गाय का मुंह पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो चुका है। कोई मेडिकल सा ...

Read More »
सीढियों पर

सीढियों पर

तब प्रिंट पत्रकारिता के प्रशिक्षण पर था मैं। शहर के बस स्टैंड से टाउन पार्क के पास बने ऑफिस तक रोज पैदल चलना होता था। बीच में रेलवे लाईन के उपर पुल बना हुआ था जिसे पार करना पड़ता ...

Read More »
scroll to top