Thursday , 18 October 2018

किसान समस्याऔ पर एक रिर्पोट

किसान समस्याऔ पर एक रिर्पोट

  यह वह सच का आइना है जिसके सामने खड़े होकर अपना चेहरा भी भयानक डरावना दिखलाई पङ रहा है। जब प्रकृति की सौन्दर्यता ही खत्म हो रही है तो फिर सभ्यता भी नहीं बचेगी? Jaipal Nehra की कि ...

Read More »
पद्मावती- ईमानदारी से इतिहास को दिखाने से डरती फ़िल्म

पद्मावती- ईमानदारी से इतिहास को दिखाने से डरती फ़िल्म

  आज जिन आलीशान महलों पर राजपूत गर्व करते नही थकते कभी सोचा है इन आलीशान किलो, महलों, बावड़ियों को मजदूरों मतलब दलितो ने ही बनाया है कितनी पीढियां खप गयी इन किलों, महलों को बन ...

Read More »
किसान नै के ठाया रै

किसान नै के ठाया रै

नोटबंदी पर किसानों के दुख को व्यक्त करती डॉ रणबीर सिंह दहिया की हरियाणवी कविता - किसान नै के ठाया रै   किसान नै मनै खोल बतादे यो थारा के ठा राख्या रै।। खेती करनी मुश्किल करदी ...

Read More »
scroll to top