Thursday , 23 November 2017

नशा नाश की जड़

नशा नाश की जड़

नशा नास की जड़ हो तू मतन्या लोवै लागै बूरी नशे की लाग भगत क्यूं घर कूणबे नै त्यागै   कदे मोटी सामी होया करदा आज बाळक रुळ रे रेत मैं कदे ट्रैक्टर चाल्या करदे आज बोर्ड गढ रे खे ...

Read More »
scroll to top