Friday , 23 February 2018

चौथे स्तम्भ के नीचे दब कर सो गया भारत का भविष्य

चौथे स्तम्भ के नीचे दब कर सो गया भारत का भविष्य

चौथे स्तम्भ के नीचे दब कर सो गया भारत का भविष्य चौथे स्तम्भ के नीचे दब कर सो गया भारत का भविष्य - इस नन्ही जान की कीमत क्या होगी उसके लिए जो कहने भर के लिए लोकतंत्र कहलाता है। काफ ...

Read More »
नौजवानों के साथ धोखा, कहां हैं मोदी और राहुल

नौजवानों के साथ धोखा, कहां हैं मोदी और राहुल

नौजवानों के साथ धोखा, कहां हैं मोदी और राहुल माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी,           यह साझा पत्र इसलिए लिख रहा हूं ताकि आपमें से जिसे भी वक्त हो ...

Read More »
डंडा और बन्दूक

डंडा और बन्दूक

जब भी सुबह अख़बार देखता हूँ या किसी भी समय न्यूज देखता हूँ तो प्रमुख न्यूज कश्मीर पर जरूर मिलती है। न्यूज पेपर या न्यूज चैनल खबर ऐसे पेश करते है जैसे प्रत्येक कश्मीरी आज हथियार उठा ...

Read More »
हार गये, कोई बात नहीं ! अगले ओलिंपिक पर ध्यान दो…

हार गये, कोई बात नहीं ! अगले ओलिंपिक पर ध्यान दो…

ओलिंपिक, अगर इतिहास को ही देखा जाये तो भारत के लिये कुछ खास कमाल नहीं रहा है। हॉकी में एक जमाने में भले ही भारत की तूती बोली हो लेकिन अब तो पिछले तीन दशक बीत जाने के बाद भी अन्य ट ...

Read More »
बैडमिंटन के क्वाटर फाइनल में पहुंचे किदांबी श्रीकांत

बैडमिंटन के क्वाटर फाइनल में पहुंचे किदांबी श्रीकांत

रियो ओलिंपिक में एक ओर जहां भारत के निराशाएं हाथ लग रही है वहीं आशाओं की भी कलियां समानान्तर क्रम में साथ-साथ खिल ही जाती हैं। लेकिन ओलिंपिक खेलों का जहां तक सवाल है तो जब तक कोई ...

Read More »
रियो ओलिंपिकः कुछ खट्टा, कुछ मीठा, उम्मीद बरकरार

रियो ओलिंपिकः कुछ खट्टा, कुछ मीठा, उम्मीद बरकरार

रियो ओलिंपिक में पदक की उम्मीद पर बना विश्वास मजबूत होने की बजाय कुछ चरचरा हो रहा है, कुछ खटास मिलती नजर आ रही है। इन खेलों का सातवां दिन भी भारत के लिए बिना मेडल के गुजर गया। शुक ...

Read More »
scroll to top