Wednesday , 22 November 2017

नोटबंदी: जुआ, आफत या राहत…? 

नोटबंदी: जुआ, आफत या राहत…? 

  कमलेश भारतीय नोटबंदी के बाद स्वदेशी ही नहीं, विदेशी मीडिया भी इस साहसिक कदम पर न केवल नजरें जमाए हुए हैं बल्कि इस पर विचार भी प्रस्तुत कर रहे हैं। चीन के मीडिया में भारत मे ...

Read More »
नोटबंदी पर मोदी विरोधी की कविताएं

नोटबंदी पर मोदी विरोधी की कविताएं

  1 भक्त मार रहे रूक्के मोदी नै बोल्ड स्टैप उठाया है मैं कहूं इस एक कदम नै पूरा देश रंभाया है वें मारैं सैं रूके इसतै काळा धन काबू आ ज्यागा मैं कहूं काळा धोळा हो लिया इब बता ...

Read More »
राजनीति का रथ हांको रे भैया, ढूंढो कोई मुद्दा

राजनीति का रथ हांको रे भैया, ढूंढो कोई मुद्दा

पुराने जमाने में रथ कैसे होते होंगे, यह तो इतिहास विशेषज्ञ ही बता सकते हैं पर राजनीति के रथ कैसे होते हैं, यह तो हर चुनाव में देखने को मिल ही जाते हैं। हाई टेक्नीक और पूरी सुविधाय ...

Read More »
डर्टी पोलिटिक्स: कमल के लिये कीचड़ जरुरी

डर्टी पोलिटिक्स: कमल के लिये कीचड़ जरुरी

किसी मुद्दे को चुनावी मुद्दा कैसे बनाया जाये यह देश की सत्तासीन भाजपा सरकार से सीखना चाहिये। लोगों को भावनात्मक रूप से अपने पक्ष में कैसे किया जाये यह तो बहुत ही अच्छे से भाजपा से ...

Read More »
हरियाणा आते ही भूल जाते हैं कांग्रेसी राहुल बाबा के पाठ

हरियाणा आते ही भूल जाते हैं कांग्रेसी राहुल बाबा के पाठ

छह अक्तटूबर को दिल्ली में भैरों मंदिर के पास हरियाणा प्रदेश कांग्रेस के दो गुटों में हुई दुर्भाग्यपूर्ण, शर्मनाक मार-पिटाई के बाद खबर है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी दोषी कां ...

Read More »
हरियाणा की तिग्गी

हरियाणा की तिग्गी

तिग्गी का मतलब तीन चीजां का तिग्गड्डा, मतलब तीन चीज इकट्ठी। एक तिग्गी का मतलब ताश की तिग्गी। पान की तिग्गी, ईंट की तिग्गी, चिड़ी की तिग्गी अर हुकम की तिग्गी। दूसरी तुरुप की तिग्गी। ...

Read More »
ताकतवर लोगों ने पहुंचाई ‘हमारे समाज’ को ठेस: बिश्नोई

ताकतवर लोगों ने पहुंचाई ‘हमारे समाज’ को ठेस: बिश्नोई

हरियाणा जनहित कांग्रेस की असफलता के बाद कांग्रेस में आए पूर्व मुख्यमंत्री स्व. चौधरी भजन लाल के बेटे कुलदीप बिश्नोई ने अपने लिए व्यक्तिगत जमीन तैयार करनी शुरू कर दी है। भले ही पार ...

Read More »
हे आम नारी – राज गली नहीं आसाँ पर जाईये ज़रूर

हे आम नारी – राज गली नहीं आसाँ पर जाईये ज़रूर

  लेखिका – सुनीता धारीवाल (कानाबाती ब्लॉग से साभार) स्थानीय निकाय के चुनाव अभी खत्म हुए हैं और पंजाब के विधानसभा चुनाव आने वाले हैं। चुनावी बाज़ार तेजी पर है सभी पत्र पत्रिकाए ...

Read More »
scroll to top