Thursday , 18 January 2018

पैरों से निकलने वाले

पैरों से निकलने वाले

      वर्ण-व्यवस्था   जो जांघ से निकले थे, वे थोड़ा करीब पहुंचे थे सत्य तो वो भी नहीं थे,   मुख से निकलने वाले बचपन के दिनों के उस सफेद झूठ की तरह थे जिसम ...

Read More »
scroll to top