Tuesday , 24 October 2017

नेहरू भी देखते थे समाजवाद का ख्वाब

नेहरू भी देखते थे समाजवाद का ख्वाब

लेखक - एस.एस पंवार “हिन्दुस्तान एक ख़ूबसूरत औरत नहीं है। नंगे किसान हिन्दुस्तान हैं। वे न तो ख़ूबसूरत हैं, न देखने में अच्छे हैं- क्योंकि ग़रीबी अच्छी चीज़ नहीं है, वह बुरी चीज़ ह ...

Read More »
scroll to top