Thursday , 15 November 2018

हरियाणा कर्मचारी आंदोलन दशा और दिशा

हरियाणा कर्मचारी आंदोलन दशा और दिशा

हरियाणा कर्मचारी आंदोलन दशा और दिशा           पिछले 16 अक्टूबर से रोड़वेज कर्मचारी हड़ताल पर थे। ये हड़ताल 18 दिन रही जो एक ऐतिहासिक कर्मचारी आंदोलन रहा। 2 नवंबर कोमाननीय हरियाणा एन् ...

Read More »
झूठ की फैक्टरी का सामना झूठ की फैक्टरी खड़ी करके जीत हासिल नही की जा सकती

झूठ की फैक्टरी का सामना झूठ की फैक्टरी खड़ी करके जीत हासिल नही की जा सकती

झूठ की फैक्टरी का सामना झूठ की फैक्टरी खड़ी करके जीत हासिल की जा सकती है?           आम आदमी अपनी सही और गलत की समझ मीडिया को सुन, पढ़ या देख कर बनाता है। एक समय था जब टेलीविजन पर रा ...

Read More »
विकास किसका – जनता का या कार्पोरेट घरानों का

विकास किसका – जनता का या कार्पोरेट घरानों का

विकास किसका - जनता का या कार्पोरेट घरानों का           जी टीवी पर एक सीरियल अप्रैल 2014 से "कुमकुम भाग्य" आता है। जिसको एकता कपूर ने बनाया है। उसमे एक लड़की थी जिसका नाम तन्नू था। ...

Read More »
भारत में तालिबानी भीड़ और मेहनतकश आवाम पर हमले

भारत में तालिबानी भीड़ और मेहनतकश आवाम पर हमले

    भारत में तालिबानी भीड़ और मेहनतकश आवाम पर हमले           भारत में तालिबानी भीड़ समय-समय पर अपना तांडव मेहनतकश आवाम पर करती है। उनका शिकार कभी मुस्लिम, दलित, बाहरी राज्य के मजदूर ...

Read More »
राहुल गांधी को खुला पत्र

राहुल गांधी को खुला पत्र

राहुल गांधी को खुला पत्र श्रीमान राहुल गांधी, अध्यक्ष, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस।                    आज भारत बहुत ही नाजुक दौर से गुजर रहा है। हिंदुत्वादी ताकतो के हमले मुस्लिमो, ...

Read More »
बलवन्त सिंह आजाद – एक गुमनाम योद्धा

बलवन्त सिंह आजाद – एक गुमनाम योद्धा

बलवन्त सिंह आजाद - एक गुमनाम योद्धा                     पिछले दिनों राजस्थान में संगरिया, हनुमानगढ़ के पास गया हुआ था एक दोस्त से मिलने। दोस्त से किसान, मजदूर, महिला मुद्दों पर चर् ...

Read More »
कैंसर और इरादा फ़िल्म – एक समिक्षा

कैंसर और इरादा फ़िल्म – एक समिक्षा

कैंसर और इरादा फ़िल्म   ऐंगल्स ने कहा था कि किसी लेखक को अगर मारना है तो उसकी रचना पर चर्चा बन्द कर दो। एक चुप्पी बना लो। उसके पक्ष या विपक्ष में कोई चर्चा ही न करो। लेखक और उ ...

Read More »
शहीद-ए-आज़म भगत सिंह और इंक़लाब

शहीद-ए-आज़म भगत सिंह और इंक़लाब

शहीद-ए-आज़म भगत सिंह और इंक़लाब         23 मार्च 1931 भारत की क्रांति के  इतिहास का वो ऐतिहासिक दिन है जिस दिन इंग्लैंड की साम्राज्यवादी सरकार ने साम्राज्यवादी इंग्लैंड के खिलाफ भा ...

Read More »
scroll to top